फिरोजाबाद: जिला प्रशासन ने किया ये अनूठा प्रयोग, मछलियां मारेंगी मच्छर का लारवा

फिरोजाबाद में डेंगू तथा वायरल बुखार से मरने वालों की संख्या बढ़कर 52 हो गई है. 540 से अधिक बच्चे मेडिकल कॉलेज में भर्ती है

फिरोजाबाद में डेंगू तथा वायरल बुखार से मरने वालों की संख्या बढ़कर 52 हो गई है. 540 से अधिक बच्चे मेडिकल कॉलेज में भर्ती है। जिला प्रशासन व नगर निगम इस महामारी को रोकने के हर तरह के उपाय कर रहा है. फिलहाल बुखार और बढ़ते रोगियो की संख्या पर काबू नही पाया जा सका है।

अब जिला प्रशासन ने डेंगू का लारवा मारने के लिए एक अनूठा प्रयोग किया है. भारत सरकार के स्वस्थ्य मंत्रालय की टीम और उत्तर प्रदेह के स्वास्थ्य विभाग लखनऊ के टीम को भी डेंगू के मचछर के लारवा मील है। आशिकान मरीज बच्चे डेंगू से संक्रमित मिले है। ये डेंगू के मचछर का लारवा पुराना जमा हुआ पानी, जल भराव , तलाव में अधिक पायव गए है। शहर के अधिकांश स्थानों पर एंटीलारवा का छिड़काव तो हो रहा है फिर भी बीमारो की संख्या बढ़ती जा रही है अब मारने वाला के आंकड़ा भी 52 हो गया है। अब देहात में भी डेंगू के मरीज मिल रहे है। लार्बा को मारने के लिए अब मछली का सहारा लिया जा रहा है।

बदायू से आई 50 पैकेट में आई 25 हजार मछलियों को शनिवार को अराव, सिरसागंज, के कई तालाबो में इन् मछलियों को छोड़ा गया है।
तीन दिन बाद फिर देखा जैव की क्या लारवा कम हुआ है। यदि ये प्रयोग सफल रहा तो शहर में पुराने जल भराव में इन गैम्बोजा मछलियो को छोड़ा जाएगा

बाइट:

डॉक्टर दिनेश कुमार प्रेमी, CMO, फ़िरोज़ाबाद ने बताया कि उन्होंने 25 हजार की संख्या में मछलियों को बदायू से मंगाया है। यह एक प्रति विशेष प्रजाति की गैम्बोजा मछली है। इसकी विशेषता है कि यह डेंगू का लारवा खाती है। कई जगह पर यह प्रयोग सफल रहा है। शहरी इलाकों से सटे आसपास के तालाबों में फिलहाल इसको डाला जा रहा है। जहां पर लारवा मिला है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर दिनेश कुमार प्रेमी कहते हैं कि अभी फिलहाल शहर से सटे हुए तालाबों में डाला जा रहा है वही जल्दी ही शहरों में जहां-जहां जलभराव है और डेंगू का लारवा जिस जगह भी मिलेगा वहां इन मछलियों को छोड़ा जायगा।

बाइट: आनंद कुमार जादौन , ग्राम पंचायत सदस्य, सिरसागंज, फ़िरोज़ाबाद ..का कहना है कि उन्हें जिला प्रशासन से मछलियां मिली है। यह एक विशेष प्रजाति की गैम्बोजा मछली हैं फिलहाल बदायूं से मंगाई गई है इनको अभी अराव, सिरसागंज के आसपास के तालाबों में मैंने खुद डलवाया है.

जगह जगह इकट्ठा हुआ लारवा, लखनऊ से आई स्वास्थ्य विभाग की टीम लारवा चेक करते हुए, मछलियों के शॉट, मछलियां तालाब में फेंकते हुए, ग्राम पंचायत सदस्य की बाइट, मुख्य चिकित्सा अधिकारी की बाइट।

रिपोर्ट बृजेश राठौर फिरोजाबाद

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button