डायबिटीज के मरीज कुछ इस तरह अपने ब्लड शुगर लेवल को कर सकते हैं कण्ट्रोल

भारत को डायबिटीज मरीजों की राजधानी कहा जाने लगा है क्योंकि इन दिनों डायबिटीज एक विकट समस्या बन गई है। खराब लाइफस्टाइल के कारण ये बीमारी कम उम्र के लोगों को भी होने लगी है।  लेकिन कुछ बातें ऐसी है जिसका ध्यान डायबिटीज के मरीज को रखनी जरूरी है। आइए जानते हैं..

डायबिटीज पेशेंट को हर दो से तीन घंटे में कुछ न कुछ खाना चाहिए। स्नैक्स और भोजन खाने से डायबिटीज लेवल को कंट्रोल रखता है। अपनी डाइट में ब्राउन राइस, ओट्स, साबुत गेहूं जैसी चीजों को शामिल करें। ऐसे में डायबिटीज लेवल को कंट्रोल में रखने के लिए नियमित शारीरिक एक्सरसाइज करना जरूरी है। लेकिन एक्सरसाइज से पहले और बाद में डायबिटीज लेवल चेक करें, अगर ज्यादा हाई या लो हो तो एक्सरसाइज से बचें।

डायबिटीज ‘अच्छे’ कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करता है और ‘खराब’ कॉलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है, जिससे दिल की बीमारी और हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है। हाई कोलेस्ट्रॉल डिस्लिपिडेमिया होने के चांस बढ़ जाता है, जिसके चलते धमनियों में रुकावट और कोरोनरी जटिलताएं हो सकती हैं। ऐसे में आप फास्ट फूड, बर्गर, पिज्जा और तले हुए स्नैक्स आपके एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है।

डायबिटीज फॉर्मूला- डायबिटीज पेशेंट को रोजाना एक्सरसाइज और खान पान में बदलाव की सलाह दी जाती है। अपने जीवन में डायबिटीज स्पेसिफिक फॉर्मूला को शामिल करें। ये सलाह दी जाती है कि डायबिटीज लेवल को मेनटेनम करने के लिए कॉम्पलेक्स कार्बोहाइड्रेट, विटामिन और एंटी-ऑक्सीडेंट जैसे विशेष अवयवों के साथ डिजाइन किया गया है। ये फॉर्मूला आपके सुबह के नाश्ते, लंच और डिनर में शामिल करें। ये आपके ब्लड ग्लुकोस और वजन को कंट्रोल करता है।

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button