एक ही रात में लिखी गई वो ‘शैतानी किताब’, जिसके रहस्यों से जुड़ी कहानी उड़ा देगी आपके होश

पूरी दुनिया में कई धर्म हैं और हर धर्म का एक ग्रंथ होता है। उस ग्रंथ की शिक्षाओं का उस धर्म के लोग पूरी उम्र अनुसरण करते हैं।

पूरी दुनिया में कई धर्म हैं और हर धर्म का एक ग्रंथ होता है। उस ग्रंथ की शिक्षाओं का उस धर्म के लोग पूरी उम्र अनुसरण करते हैं। जैसे कि ईसाई धर्म के ग्रन्थ को बाइबिल कहा जाता है, जिसका ईसाई लोग अनुसरण करते हैं। बाइबिल ग्रंथ को ईसाई धर्म में पवित्र माना जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि दुनिया में एक ऐसी किताब भी है, जिसका नाम ‘डेविल्स बाइबिल’ यानी शैतानों की किताब कहा जाता है।

एक रहस्यमयी किताब…

जी हां, यह सच है। ‘डेविल्स बाइबिल’ (devils Bible) एक रहस्यमयी किताब है। इस किताब में शैतानों के चित्र बने हुए हैं, इसलिए इसे शैतानी बाइबिल कहा जाता है। ये किताब दुनिया की सबसे रहस्यमय किताब मानी जाती है, क्योंकि इसके पहले पन्ने पर ही शैतान की तस्वीर बनाई गयी है। इसके अलावा किताब के हर पन्ने पर शैतानों की तस्वीरें हैं।

devils Bible

यह भी पढ़ें : अद्भुत: वो मंदिर, जहां दूध चढ़ाने के बाद होता है ऐसा चमत्कार, जिसे जान आप भी हो जाएंगे हैरान

हैरानी की बात यह है कि इस किसाब को महज एक रात में लिख दिया गया था। शैतानी किताब को ‘कोडेक्स गिगास’ के नाम से भी जाना जाता है। किताब को दुनिया की सबसे खतरनाक किताब कहा जाता है।

स्वीडन के पुस्तकालय में सुरक्षित है ‘शैतानी बाइबिल’

किताब स्वीडन के पुस्तकालय में सुरक्षित रखी गई है, जिसके रहस्य के बारे में आज तक पता नहीं चल सका है। इसे लिखने वाले का नाम और इस शैतानी किताब (devils Bible) को लिखने का मकसब आज तक रहस्य है। यही वजह है कि इसे देखने के लिए हजारों की संख्या में लोग पहुंचते हैं।

यह भी पढ़ें : यूपी में आज से लागू हो गया लव जिहाद पर लगाम लगाने वाला अध्यादेश, राज्यपाल ने दी मंजूरी

ये रहस्यमयी किताब (devils Bible) इसलिए भी कौतूहल पैदा करती है, क्योंकि इसे कागज के पन्नों पर नहीं, बल्कि चमड़े के पन्नों पर लिखा गया है। इसमें कुल 160 पन्ने हैं, जो इसे भारी-भरकम बनाते हैं। इस किताब का वजन 85 किलो है, जिसे उठाने के लिए कम से कम दो लोगों की जरूरत पड़ती है।

रातभर में लिखी गई ये किताब…

इसके पीछे की यह कहानी प्रचलित है कि 13वीं सदी में एक संन्यासी ने अपनी मठवासी प्रतिज्ञा तोड़ दी थी, जिसके बाद उसे दीवार में जिंदा चुनवाने की सजा सुनाई गई थी। कठोर दंड से बचने के लिए उसने रातभर में एक ऐसी किताब लिखने का वादा किया, जो सभी मानव ज्ञान सहित मठ को हमेशा के लिए गौरवांवित करे। इसके लिए उसे इजाजत दे दी गई और उस शख्स ने यह किताब लिख डाली।

यह भी पढ़ें : बड़ी खबर: अब नहीं खुलेंगी शराब की दुकानें, प्रशासन ने जारी किया आदेश

कहा जाता है कि आधी रात को जब उसने देखा कि वह अकेले पूरी किताब नहीं लिख सकता तो उसने एक विशेष प्रार्थना कर शैतान को बुलाया था। शैतान से उसने अपनी आत्मा के बदले किताब को पूरा करवाने के लिए मदद मांगी थी। इसके लिए शैतान तैयार हो गया और उसने एक रात में पूरी किताब लिखने में मदद की।

चमड़े के पन्नों पर लिखी गई किताब

वहीं वैज्ञानिकों का मानना हैं कि प्राचीन समय में चमड़े के पन्नों पर ऐसी किताब को महज एक दिन में लिखना नामुमकिन है। वैज्ञानिकों के मुताबिक, अगर दिन-रात एक करके लगातार भी लिखा जाएगा तो भी इसे पूरा करने में 20 साल से ज्यादा का समय लगेगा। लेकिन कुछ शोधकर्ताओं ने इस तर्क को खारिज किया है। उनका मानना है कि पूरी किताब को एक ही लिखावट में लिखा गया है। इससे साफ है कि इसे 20 या 25 साल में नहीं लिखा गया होगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button