रिंकू शर्मा हत्याकांड: VHP और भाई का दावा- राम मंदिर पर चंदा जुटाई को लेकर हुआ मर्डर, लेकिन पुलिस ने…

दिल्ली (Delhi) में बीजेपी कार्यकर्ता की हत्या के मामले ने तूल पकड़ लिया है। मंगोलपुरी इलाके में बुधवार देर रात हमलावरों ने एक धार्मिक संगठन से जुड़े युवक रिंकू शर्मा की लाठी-डंडे से...

दिल्ली (Delhi) में बीजेपी कार्यकर्ता की हत्या के मामले ने तूल पकड़ लिया है। मंगोलपुरी इलाके में बुधवार देर रात हमलावरों ने एक धार्मिक संगठन से जुड़े युवक रिंकू शर्मा (Rinku Sharma) की लाठी-डंडे से पिटाई कर दी और चाकू घोंपकर उसकी हत्या कर दी। बीजेपी और विश्व हिंदू परिषद का आरोप है कि राम मंदिर निर्माण से जुड़े होने की वजह से हत्या हुई है। साथ ही रिंकू के परिवार वाले भी यही आरोप लगा रहे हैं। हालांकि, दिल्ली पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार करके मामले की जांच में जुटी है।

घटना के बाद इलाके में दो समुदायों के बीच तनाव फैल गया, जिस वजह से इलाके में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। अब 25 साल के रिंकू शर्मा (Rinku Sharma) के लिए इंसाफ की मांग करते हुए लोगों ने इसे #JusticeForRinkuSharma हैशटैक के साथ ट्विटर पर ट्रेंड करना शुरू कर दिया है।

ये भी पढ़ें- कासगंज एनकाउंटर पर उठाए सवाल, पूर्व विधायक ने चंबल के डकैतो से की यूपी पुलिस की तुलना

गौरतलब है कि बुधवार रात दिल्ली के मंगोलपुरी इलाके में बीजेपी कार्यकर्ता रिंकू शर्मा (Rinku Sharma) की चार लोगों ने चाकू गोंदकर हत्या कर दी। पुलिस के मुताबिक, रिंकू शर्मा के दोस्त ने अपने तीन साथियों के साथ मिलकर हत्या की है। यह हत्या बर्थडे पार्टी में रेस्त्रां खोलने को लेकर हुए विवाद में की गई। लेकिन रिंकू के परिजनों का कहना है कि हत्या राम मंदिर के कारण हुई है।

दिल्ली पुलिस ने बताया कि रिंकू शर्मा (Rinku Sharma) का एक बर्थडे पार्टी में रेस्त्रां खोलने को लेकर झगड़ा हुआ था, इसके बाद जब रिंकू बर्थडे पार्टी से घर जा रहा था, तभी दानिश ने उसे रोक लिया। इस दौरान दोनों के बीच काफी नोकझोक हुई, इस दौरान दानिश ने अपने तीन दोस्तों के साथ मिलकर रिंकू पर लाठी-डंडे से हमला कर उसकी पिटाई कर दी और फिर चाकू घोंपकर हत्या कर दी।

ये भी पढ़ें- झाँसी: किसानों की खड़ी फसल पर चली जेसीबी, ठेकेदार पर लगा मनमाने तरीके से निर्माण करने का आरोप

पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों की पहचान मोहम्मद दानिश, मोहम्मद इस्लाम, जाहिद और मोहम्मद मेहताब के रूप में हुई है। दानिश और इस्लाम दर्जी हैं, जाहिद एक कॉलेज छात्र है और मेहताब कक्षा 12 में पढ़ता है।

वहीं, परिवार वालों का आरोप है कि दशहरा पर राममंदिर पार्क में कार्यक्रम को लेकर दूसरे समुदाय के लोगों से विवाद चल रहा था, जिसकी वजह से रिंकू (Rinku Sharma) की हत्या की गयी है। रिंकू के छोटे भाई की शिकायत पर दिल्ली पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

जानकारी के मुताबिक, रिंकू (Rinku Sharma) अपने पिता अजय शर्मा, मां राधा, छोटा भाई मनु शर्मा और आशु शर्मा के साथ मंगोलपुरी के K-ब्लॉक रहता था। रिंकू एक निजी अस्पताल में काम करता था। मनु शर्मा ने बताया कि उसके घर से कुछ दूरी पर नसरुद्दीन, इस्लाम, जाहिद और मेहताब रहते हैं।

ये भी पढ़ें- TMC सांसद दिनेश त्रिवेदी ने किया इस्तीफे का ऐलान, ‘दीदी’ का साथ छोड़ BJP में शामिल होने की अटकलें तेज

मनु शर्मा का आरोप है कि कुछ दिन पहले दशहरा पर राम मंदिर पार्क में कार्यक्रम को लेकर उसके परिवार के सदस्यों के साथ आरोपियों की कहासुनी हो गई थी, जिसके बाद से सभी आरोपी जान से मारने की धमकी देते थे। बुधवार रात करीब साढ़े दस बजे चारो आरोपी कुछ अन्य लोगों के साथ रिंकू के घर पहुंचे और गाली-गलौज करने लगे, जिसका रिंकू (Rinku Sharma) और मनु ने विरोध किया तो जाहिद ने मनु और रिंकू पर लाठी डंडा से हमला किया और मेहताब ने रिंकू पर ताबड़तोड़ चाकू से हमला कर दिया। चाकू रिंकू के रीढ की हड्डी में फंस गया, जिसके बाद सभी आरोपी फरार हो गए। मनु और उसके परिवार वाले रिंकू को संजय गांधी अस्पताल पहुंचे, जहां उपचार के दौरान बृहस्पतिवार सुबह रिंकू की मौत हो गयी।

अब इस मामले में हैरान करने वाली एक बात सामने आ रही है कि जिस आरोपी इस्लाम ने रिंकू शर्मा की हत्या की, उसी की पत्नी को रिंकू ने तीन साल पहले जिंदगी दी थी। यही नहीं कोरोना के दौरान आरोपी के भाई की भी रिंकू शर्मा ने मदद की थी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button