कौशांबी : दबंग रोजगार सेवक नहीं मानता किसी उच्च अधिकारी की बात- ग्राम पंचायत अधिकारी

यूपी के कौशांबी जनपद के ब्लॉक मंझनपुर, ग्राम तियरा जमालपुर गांव के ग्राम रोजगार सेवक की मनमानी इतनी चरम पर है

यूपी के कौशांबी जनपद के ब्लॉक मंझनपुर, ग्राम तियरा जमालपुर गांव के ग्राम रोजगार सेवक की मनमानी इतनी चरम पर है कि वह अपने अधिकारियों की भी नहीं सुनता एक ग्राम प्रधान को देख लेने की दिया करता है धमकी गांव में मनरेगा द्वारा कराए गए कार्यों में जमकर धांधली साफ नजर आ रही है क्योंकि वही रोजगार सेवक पर अवैध तरीके से मनरेगा में हाजिरी भरने का लगा गंभीर आरोप जब मनरेगा में काम करवाता है तो ग्राम रोजगार सेवक अपने करीबियों के खातों में बिना कार्य के ही हाजिरी भर कर भेज देता है और उसे बाद में पैसा निकलवा कर प्राप्त कर लेता है।

नवनिर्वाचित ग्राम प्रधान एवं ग्राम पंचायत सदस्य क्षेत्र पंचायत सदस्यों ने इसकी शिकायत सम्पूर्ण समाधान दिवस में तथा खण्ड विकास अधिकारी मंझनपुर को लिखित रूप से दिया गया।
रोजगार सेवक के कारनामों की सही जांच कराकर कठोर दंडात्मक कार्यवाही के साथ रोजगार सेवक पद से हटाए जाने की मांग भी की है। ग्राम पंचायत के साथ ही साथ ग्राम पंचायत अधिकारी भी रोजगार सेवक के खिलाफ खण्ड विकास अधिकारी के शिकायती पत्र दिया है किन्तु कार्वाई के नाम पर खना पूर्ती तक भी नहीं हुई है।

जानकारी के लिए बता दें कि रोजगार सेवक के खिलाफ ग्राम पंचायत अधिकारी ने भी लिखित रूप से खण्ड विकास अधिकारी को पत्र लिखा है कि ग्राम पंचायत तियरा जमालपुर का रोजगार सेवक किसी भी उच्च अधिकारियों की कोई भी बात नहीं सुनता है।बता दें कि ग्राम पंचायत तियरा जमालपुर मजरा मोज्जमपुर में 2017 से आज तक रोजगार सेलक गांव में नहीं गया है।2017 में मनरेगा से काम करवाया था।लेकिन आज तक किसी मजदूर को मजदूरी नहीं मिली है। देखना यह है कि क्या योगी सरकार में गरीब मजदूरों को न्याय मिल पायेगा।क्या इतनी जानकारी के बावजूद भी अधिकारी भ्रष्ट रोजगार सेवक को शरण देंगे या भ्रष्टाचार करने वाले रोजगार सेवक के खिलाफ कठोर दंडात्मक कार्यवाही करते हुए पद से हटाएंगे ये सवाल बना हुआ है।

रिपोर्ट-  मानसिंह विश्वकर्मा

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button