कोरोनाकाल में सरकार को चुनौती दे रहा है शामली का ये स्कूल प्रशासन, देश के भविष्य से कर रहा खिलवाड़

कोरोना (Corona) से जहां देश ही नहीं, अपितु विश्व भर में लोग परेशान हैं और कोरोना के चलते लाखों लोग अपनी जान गवां चुके हैं।

कोरोना (Corona) से जहां देश ही नहीं, अपितु विश्व भर में लोग परेशान हैं और कोरोना के चलते लाखों लोग अपनी जान गवां चुके हैं। सरकार द्वारा समय-समय पर गाइडलाइन जारी की गई है, जिसमें स्कूल-कॉलेज को भी अभी बंद रखा गया है, लेकिन शामली में एक स्कूल (School) की हठधर्मिता देखने को मिली, जिसे कोरोना का कोई खौफ नहीं है और स्कूल संचालक स्कूल खोले बैठे रहते हैं। स्कूल में बच्चों को क्लास लगाकर पढ़ाया जा रहा है। पूरी क्लास में बच्चे बिना मास्क के बैठे हैं और सभी को जमीन पर टाट डालकर बैठाया गया है।

 

आपको बता दें कि पूरा मामला जनपद शामली के गांव बनती खेड़ा का है, जहां पर स्कूल प्रबंधन की हठधर्मिता देखने को मिली है। कोरोना वायरस के इस संकट में स्कूल-कॉलेजों को बंद रखा गया है, लेकिन फिर भी स्कूल संचालक द्वारा स्कूल (School) खोल कर बच्चों को पढ़ाया जा रहा है। इतना ही नहीं, भरी सर्दी में बच्चे जमीन पर काट डालकर बैठे हुए हैं और शिक्षक बच्चों को पढ़ा रहे हैं।

ये भी पढ़ें – बड़ी खबर: कोरोना वैक्सीन लेने के बाद ड्राइवर की मौत, आशा कार्यकत्री अस्पताल में भर्ती

पूरी क्लास बच्चों से भरी हुई है, लेकिन न तो किसी बच्चे ने मास्क पहना है और न ही सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखा गया है। सरकार द्वारा स्कूल-कॉलेजों को बंद रखने के बावजूद भी स्कूल संचालक स्कूल (School) खोलकर बच्चों को पढ़ा रहे हैं और जो जिम्मेदाराना अधिकारी हैं, वह कुंभकरण की नींद सोए हुए हैं।

अब ऐसे में सवाल यह उठता है कि अगर स्कूल में पढ़ने के दौरान बच्चों को किसी प्रकार से कुछ हो जाता है तो उसकी जिम्मेदारी आखिर किसकी होगी। वहीं, इस पूरे मामले पर स्कूल प्रबंधन (School management) की ओर से कैमरे पर बोलने के लिए कतराता हुआ नजर आया।

ये भी पढ़ें – कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर बड़ी खबर, प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्रियों को…

वहीं, इस मामले में जब बेसिक शिक्षा अधिकारी से बात करने की कोशिश की तो उन्होंने कुछ भी कैमरे के सामने बोलने से साफ इनकार कर दिया, जबकि खुलेआम कोविड-19 के नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए मासूम बच्चों की जान खतरे में डाला जा रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button