बथुआ का सेवन सेहत के लिए है फायदेमंद, होते हैं गजब के फायदे

बथुआ एक हरी सब्जी का नाम है, यह शाक प्रतिदिन खाने से गुर्दों में पथरी नहीं होती। बथुआ आमाशय को बलवान बनाता है, गर्मी से बढ़े हुए यकृत को ठीक करता है। इसकी प्रकृति ठंडी होती है, यह अधिकतर गेहूं के साथ उगता है और जब गेहूं बोया जाता है, उसी सीजन में मिलता है।

बथुआ एक हरी सब्जी का नाम है, यह शाक प्रतिदिन खाने से गुर्दों में पथरी नहीं होती। बथुआ आमाशय को बलवान बनाता है, गर्मी से बढ़े हुए यकृत को ठीक करता है। इसकी प्रकृति ठंडी होती है, यह अधिकतर गेहूं के साथ उगता है और जब गेहूं बोया जाता है, उसी सीजन में मिलता है।

हमारे शरीर को कई विटामिन और खनिज तत्वों की काफी जरूरत होती है, जो हमें बथुआ खाने से मिल सकते हैं क्योंकि ये सारी चीजें इसमें काफी मात्रा में पाई जाती है। बथुए में विटामिन-ए और डी, फॉस्फोरस और आयरन की भरपूर मात्रा पाई जाती है। इसलिए इसका सेवन करने की सलाह दी जाती है। हमें बथुए को कम से कम अपने एक समय के भोजन में तो जरूर शामिल करना चाहिए, ताकि हमारे शरीर को इसके अंदर पाए जाने वाले गुण आसानी से मिल सके।

ये भी पढ़ें- कोरोना वैक्सीन के ड्राई रन के बीच स्वास्थ्य मंत्री का बड़ा ऐलान, मुफ्त में…

कई लोगों को कब्ज की शिकायत होती है, जिसके लिए वो कई प्रकार के चूर्ण और दवाईयां लेते हैं। लेकिन कई बार ये भी उनके काम नहीं आ पाते। ऐसे में बथुआ कब्ज से राहत दिलाने में आपकी मदद कर सकता है। साथ ही लकवा और गैस की समस्या में तो ये काफी फायदेमंद माना ही जाता है। अगर आपको दांतो की भी समस्या है तो भी ये आपके काम आ सकता है। आपको करना ये है कि बथुए की पत्तियों को कच्चा चबाना है, इससे सांस की बदबू नहीं आती है।

मूत्राशय, गुर्दा और पेशाब के रोगों में बथुए का साग लाभदायक है। पेशाब रुक-रुककर आता हो, कतरा-कतरा सा आता हो तो इसका रस पीने से पेशाब खुल कर आता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button