बरेली- नेशनल एजुकेशन पालिसी को लेकर रुहेलखंड विश्वविद्यालय में हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस

उन्होंने बताया कि पहली बार ऐसा हो रहा है कि महाविद्यालय ही एडमीशन करेंगे। जिससे छात्र छात्राओं और कॉलेजों को काफी राहत मिलेगी।

महात्मा ज्योतिबा फुले रुहेलखंड विश्वविद्यालय में नेशनल एजुकेशन पालिसी की शुरुआत हो गई है। नई शिक्षा नीति को लेकर आज यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रोफेसर केपी सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इसके साथ ही नए सत्र में स्नातक में होने वाले एडमिशन की शुरुआत भी हो गई है।

कोरोना काल मे इस बार सभी बोर्डो के इंटरमीडिएट का रिजल्ट आ गया है। जिसके बाद अब एडमीशन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। बरेली स्थित महात्मा ज्योतिबा फुले रुहेलखंड विश्वविद्यालय में नेशनल एजुकेशन पालिसी के तहत अब स्नातक और परस्नातक में एडमीशन की शुरुआत हो चुकी है। यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रोफेसर केपी सिंह ने बताया कि नेशनल एजुकेशन पालिसी के तहत जल्द ही एकेडमिक कलेंडर भी जारी कर दिया जाएगा।

उन्होंने बताया कि पहली बार ऐसा हो रहा है कि महाविद्यालय ही एडमीशन करेंगे। जिससे छात्र छात्राओं और कॉलेजों को काफी राहत मिलेगी। लेकिन यनिवर्सिटी से सम्बंध सभी कॉलेजों को सरकार द्वारा जारी रिजर्वेशन का पालन करना होगा। सभी कॉलेजों में 31 अगस्त तक एडमीशन होंगे।

इसके अलावा लेट फीस के साथ 14 अगस्त तक एडमीशन करवाये जायेगे। गौरतलब है कि रुहेलखंड यूनिवर्सिटी से सम्बंध 9  जिलों के 543 कालेजों में 6 लाख से अधिक छात्र छात्राएं शिक्षा ग्रहण कर रहे है। वही प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मीडिया सेल के जहीर अहमद, अमित कुमार, एमपी जोशी, तपन और अनिल कुमार मौर्या मौजूद रहे।

रिपोर्ट-फजलुर रहमान

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button