Chamoli Glacier Collapse: उत्तर प्रदेश में CM योगी ने गंगा किनारे बसे जिलों के DM-SP को दिए निर्देश, अलर्ट जारी

उत्तराखंड (Uttarakhand) के चमोली जिले के रैनी में ग्लेशियर (Glacier) फटने से आई बाढ़ को देखते हुए उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में भी अलर्ट जारी कर दिया गया है।

उत्तराखंड (Uttarakhand) के चमोली जिले के रैनी में ग्लेशियर (Glacier) फटने से आई बाढ़ को देखते हुए उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में भी अलर्ट जारी कर दिया गया है। सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) ने गंगा नदी के किनारे पड़ने वाले सभी जिलों के जिलाधिकारी (DMs) और पुलिस अधीक्षकों (SPs) को पूरी तरह से मुस्तैद रहने के निर्देश दिए हैं।

ग्लेशियर (Glacier) फटने के बाद सीएम योगी ने राज्य के सभी संबंधित विभागों और अफसरों को अलर्ट पर रहने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि स्थिति पर पूरी तरह नजर रखें और मुस्तैद रहें। हालात के मद्देनजर एसडीआरएफ को भी अलर्ट किया गया है। इतना ही नहीं, मुख्यमंत्री योगी ने उत्तराखंड को हर प्रकार से सहयोग करने का भी निर्देश दिया है।

ये भी पढ़ें-  Farmers Protest: कृषि कानूनों को लेकर सरकार से नाराज एक और किसान ने दी जान, सुसाइड नोट में लिखा…

वहीं, ग्लेशियर (Glacier) फटने के बाद बिजनौर जिले की सोशल मीडिया सेल की ओर से गंगा नदी में बाढ़ आने की संभावना जताई गई है, जिसके बाद निर्देश जारी करते हुए कहा गया है कि गंगा नदी के आसपास ग्रामीणों को सूचित किया जाता है कि नदी के किनारे न जाएं और सतर्कता बरतें।

प्रदेश में गंगा किनारे वाले जिलों उन्नाव, कन्नौज, बिजनौर, फतेहगढ़, प्रयागराज, कानपुर, मिर्जापुर, गढ़मुक्तेश्वर, गाजीपुर व वाराणसी में हाई अलर्ट जारी किया गया है। अलर्ट का आदेश आते ही अफसरों ने गंगा किनारे बसे गांव का दौरा शुरू किया। बताया जा रहा है कि ग्लेशियर (Glacier) टूटने से शाम तक गंगा में कई लाख क्यूसेक पानी बढ़ सकता है।

ये भी पढ़ें – अंधविश्वास में इस कदर अंधी हो गयी बहू ने तंत्र- मंत्र का सहारा लेकर ससुर के साथ कर डाला ऐसा ‘खौफनाक काम’ की जानकर उड़ जायेंगे होश

बता दें कि रविवार को उत्तराखंड के चमोली जिले के नंदा देवी नेशनल पार्क इलाके के कोर जोन में स्थित ग्लेशियर (Glacier) के टूटने की खबर है। बताया जा रहा है कि रैनी गांव के पास ऋषि गंगा तपोवन हाइड्रो प्रोजेक्ट का बांध टूट गया है। ग्लेशियर के टूटने से हाइड्रो पावर प्रोजेक्ट को काफी नुकसान हुआ है। इससे चमोली से हरिद्वार तक खतरा बढ़ गया है।

बताते चलें कि जोशीमठ में ग्लेशियर (Glacier) फटने से डैम टूट गया है, जिससे धौली नदी में बाढ़ आ गई है। हादसे में कई लोग बह गए हैं। ग्लेशियर टूटने की जानकारी मिलते ही मौके पर जिला प्रशासन के अधिकारी और पुलिस बल पहुंच गई है।

ये भी पढ़ें – क्राइम ब्रांच की गिरफ्त में ‘गंदी बात’ फेम एक्ट्रेस, अश्लील वीडियो शूट कर वेबसाइट पर अपलोड करने का है आरोप

स्थानीय प्रशासन ने हाई अलर्ट जारी कर दिया है। इसके अलावा चमौली जिले में ग्लेशियर (Glacier) फटने के बाद बिजनौर प्रशासन अलर्ट हो गया है। खासतौर पर गंगा के आसपास के इलाकों में रह रहे लोगों को सतर्क रहने को कहा गया है और लोगों को नदियों से दूर रहने की सलाह दी गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button