UPPCL में PF घोटाले मामले में CBI ने EOW से दस्तावेज लिए

The UP Khabar

लखनऊ – UPPCL में PF घोटाले मामले में CBI ने EOW से दस्तावेज लिए, EOW की अब तक हुई जांच की रिपोर्ट CBI ने ली, EOW के बाद अब CBI आरोपियों से पूछताछ करेगी, गृह विभाग और EOW के अफसरों से CBI ने जानकारी जुटाई।

ये था पूरा मामला :-

अखिलेश सरकार में बिजली विभाग के कर्मचारियों के प्रॉविडेंट फंड का पैसा इकबाल मिर्ची की कंपनी से जुड़े दागी कंपनी दीवान हाउसिंग फाइनेंस कॉरपोरेशन (DHFL) में निवेश कर दिया गया था। योगी सरकार ने नवम्बर 2019 में दो वरिष्ठ अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की. इस मामले में इन दो अधिकारियों को तत्काल गिरफ्तार भी किया जा चुका है. ये दो अधिकार यूपी पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड के तत्कालीन निदेशक (वित्त) और ट्रस्टी सुंधाशु द्विवेदी और जीएम प्रवीण कुमार गुप्ता थे

बिजली विभाग के अधिकारियों ने लगभग 45,000 से ज्यादा बिजली कर्मचारियों के भविष्य निधि का 2631 करोड़ रुपये को गलत तरीके से DHFL में निवेश किया था. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी थी. जिसके चलते कल सीबीआई ने FIR दर्ज की है. हालांकि अभी इसकी पड़ताल पुलिस महानिदेशक आरपी सिंह कर रहे थे.

यह मामला बीते साल 10 अक्टूबर को सामने आया था. लखनऊ में इस केस में एफआईआर भी दर्ज कराई गई थी. इसकी जांच में पता चला कि बिजली कर्मचारियों के भविष्य निधि का पैसा नियमों के विरुद्ध डीएफएफएल में निवेश कर दिया गया है. इसके बाद इम्प्लाइज ट्रस्ट के सचिव पीके गुप्ता को स

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button