सात बेसहारा बिल्ली के बच्चों को मां का प्यार दे रहा है उनका जानी दुश्मन

जब रेस्क्यू टीम इन बिल्ली के बच्चों के पास पहुंची तो उन्हें उनकी मां कहीं भी नहीं मिली। जिसके बाद टीम उन बच्चों को शेल्टर होम ले गयी।

दुनिया में मां और उसके बच्चों के बीच का रिश्ता हर दूसरे रिश्ते से हटके है। एक मां अपने बच्चों के लिए बड़ी से बड़ी परेशानी का सामना डटके कर सकती है। एक मां के लिए सभी बच्चे एक सामान होते है। फिर चाहे वो बच्चे उसके हो या किसी और के एक मां कभी भी बच्चों में भेदभाव नहीं करती है। यही बात अब जानवरों पे भी लागू होती है।

कुत्ते और बिल्लियों को एक दूसरे का दुश्मन माना जाता है। बिल्ली को देख के कुत्ते उसके पीछे पागलों की तरह भोंकने और दौड़ने लगते है।

पे इससे हटके ब्रिटेन से जो खबर सामने आ रही है, उससे सुनने के बाद आपको विश्वास नहीं होगा कि ऐसा भी हो सकता है। असल में पूरा मामला ब्रिटेन के साउथ वेस्ट लंदन में स्थित बैटरसी का है। जहां पे एनिमल रेस्क्यू टीम को सड़क के किनारे 7 बिल्ली के बच्चे फेंके होने की खबर मिली थी।

जब रेस्क्यू टीम इन बिल्ली के बच्चों के पास पहुंची तो उन्हें उनकी मां कहीं भी नहीं मिली। जिसके बाद टीम उन बच्चों को शेल्टर होम ले गयी। शेल्टर होम में मौजूद लेब्राडोर प्रजाति का कुत्ता बर्टी पहले से ही वहां मौजूद था।

उन साथ बिल्ली के बच्चों के आने के बाद से बर्टी ही उनका ख्याल रख रहा है। बर्टी इन सातों बिल्ली के बच्चों का इस तरह से ख्याल रखता है जैसे कि वो उसी के बच्चे हो। वहीं बिल्ली के बच्चे भी बर्टी को मां मानते हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक टीम को जब बच्चे मिले थे तब बेहद भूखे थे। उन्हें शेल्टर होम लाकर दूध पिलाया गया।

टीम की नर्स के अलावा बर्टी उनका ध्यान रखने लगा। टीम ने बताया कि बर्टी काफी जिम्मेदारी से उनका ख्याल रखता है। खुद 1 साल का बर्टी इन बच्चों को मां और पिता दोनों का प्यार दे रहा है। अब बिल्ली के बच्चे भी बर्टी नहीं रह पाते हैं। वो उसकी बॉडी पर उछल कूद करते रहते हैं।

 

जानकरी के लिए बता दे आपको कि बिल्ली के बच्चे 8 हफ्ते तक मां के बिना नहीं रह पाते। पर इन सातों बच्चों को तो सिर्फ दो हफ्तों में ही मां से अलग होना पड़ा था। शेल्टर होम में बच्चों को बोतल से दूध पिलाया जाता है। पर यहां पे बर्टी इन बच्चों का अच्छे से ध्यान रख रहा है। साथ ही रेस्क्यू टीम अब इन बच्चों को अडॉप्शन पर लगाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button