दुल्हन बनकर दूल्हे का कर रही थी इंतज़ार और फिर हुआ कुछ ऐसा….

हाथों में मेहँदी लाल रंग का चूड़ा और लहंगा पहने दुल्हन अपनी बारात और दूल्हे का इंतज़ार करती रही पर न बारात आयी और न दूल्हा। दहेज़ जैसी दीमक को लगाम लगाने के लिए भले ही सरकार लाख कोशिश कर रही हो पर आए दिन अनगिनत ऐसे मामले देखने को मिल ही जाते है

हाथों में मेहँदी लाल रंग का चूड़ा और लहंगा पहने दुल्हन (bride )अपनी बारात और दूल्हे का इंतज़ार करती रही पर न बारात आयी और न दूल्हा। दहेज़ जैसी दीमक को लगाम लगाने के लिए भले ही सरकार लाख कोशिश कर रही हो पर आए दिन अनगिनत ऐसे मामले देखने को मिल ही जाते है जिनमें दहेज़ के नाम पर मासूम की बलि ले ली जाती है या फिर बारात वापस लौट जाती है।

जब बहुत देर तक दूल्हा नज़र नहीं आया तो …

ताजा मामला उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ से सामने आया।  जहाँ एक दुल्हन (bride ) मन में कई सपने वॉर अरमान लिए इंतज़ार करती रही। उसे क्या पता था उसके सारे सपने टूटने वाले हैं। जब दहेज़ न मिलने पर दूल्हा मंडप तक नहीं पंहुचा। दुल्हन के घरवालों ने एसएसपी से मिलकर शिकायत की। मामले की जांच बैठा दी गई है।

ये भी पढ़ें – बरेली: मुस्लिम युवती ने अपने हिन्दू बॉयफ्रेंड से मंदिर में की शादी और अब …..

दरअसल, गांधीपार्क क्षेत्र में हाथरस के सासनी के एक गांव की रहने वाली दुल्हन (bride ) का आरोप हैं कि हरदुआगंज के औरंगाबाद निवासी युवक से शादी तय की गई थी। 25 दिसंबर को बारात आनी थी। इसके लिए कार्ड छपवाकर सभी रिश्तेदारों को न्योता दिया गया था जबकि समारोह स्थल दुबे के पड़ाव स्थित भारतीय स्टेट बैंक के निकट था। घर में मेहमानो का आना भी शुरू हो गया था।

जैसे तैसे दो लाख रूपये तक की धनराशि का इंतज़ाम ही हो सका था…

दुल्हन (bride ) भी तैयार होकर मंडप में आ गई थी। दूल्हे पक्ष की ओर से 10 लोग समारोह में पहुंचे थे। मगर दूल्हा और दूल्हे का परिवार नदारद था। जब दुल्हन के परिवार ने दूल्हे की बारे में पूछा तो  छह लाख रुपए की दहेज मांग रख दी। किसी तरह से दुल्हन के घर वालों ने दहेज़ की राशि को जुटाना शुरू किया  जैसे तैसे दो लाख रूपये तक की धनराशि का इंतज़ाम ही हो सका था।

पहले तो परिवार ने इधर उधर से धनराशि जुटाकर दो लाख रुपए इकट्ठा भी कर लिये। लेकिन दूल्हे का परिवार छह लाख रुपये की मांग पर ही अड़ा रहा। बाद में थक हारकर दुल्हन पक्ष ने पुलिस बुला ली। पुलिस दूल्हे पक्ष के लोगों को हिरासत में लेकर थाने ले आई। सुबह तक दूल्हा नहीं आया तो लड़की पक्ष के लोग पहले थाना गांधीपार्क थाने में पहुंचे।

ये भी पढ़ें – बॉयफ्रेंड को कमरे में बुलाकर गर्लफ्रेंड कर रही थी ये काम, जब घरवालों ने देखा तो पैरों के नीचे से खिसक गयी जमीन

इसके बाद एसएसपी कार्यालय पहुंचकर कार्रवाई की गुहार लगायी। एसपी क्राइम डॉ. अरविंद ने मामले की जांच के थाना पुलिस को आदेश दिये है। गांधी पार्क थाना के एसएसआई ने बताया कि दोनों की पहले कोर्ट मैरिज हो चुकी है। दिन में किसी बात को लेकर दोनों में विवाद हो गया था। जिसके चलते दूल्हा रात में समारोह में शामिल नहीं हुआ था।

एसएसआई ने बताया कि समारोह किसी मंडप में नहीं, बल्कि घर में आयोजित किया गया था। दुल्हन (bride ) को अपने एक परिचित के यहां से ससुराल के लिए विदा होना था। युवती ने दो साल पहले इसी युवक पर दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया था। आरोप है कि वर्ष 2018 में युवक ने एक कॉलेज में दाखिला दिलाने के नाम पर युवती का शोषण किया व दुष्कर्म किया। इसके बाद स्वजन को जान से मारने की धमकी देता रहा। जैसे तैसे दोनों पक्ष के लोगों ने समझौता कर लिया। फिर संभ्रांत लोगों के बीचबचाव होने पर शादी तय हुई थी। राघवेंद्र, सीओ सेकंड ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। जांच उपरांत आरोपियों को विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button