आकाश सक्‍सेना को बीजेपी  ने बनाया उम्‍मीदवार जाने कौन हैं सक्‍सेना?   

आकाश सक्‍सेना आजम खान के बेटे अब्‍दुल्‍ला आजम के खिलाफ दो-दो प्रमाणपत्र रखने के मामले में वादी भी हैं।

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के दिग्‍गज नेता व सांसद आजम खान का कानूनी रूप से जिन्‍होंने जीना मुहाल कर दिया. जिस शख्‍स ने उनके बेटे अब्‍दुल्‍ला आजम को जेल तक पहुंचा दिया, भारतीय जनता पार्टी ने  आकाश सक्‍सेना को रामपुर विधनसभा सीट से अपना प्रत्‍याशी बनाया है.  को रामपुर नगर विधानसभा सीट से टिकट दिया गया है। आजम खान पर कुल 104 मुकदमें दर्ज हैं, जिनमें से 33 केस अकेले आकाश सक्‍सेना ने किए हैं। इनमें सिविल मुकदमों के साथ 7 आपराधिक मामले भी शामिल हैं. वहीं, आकाश सक्‍सेना आजम खान के बेटे अब्‍दुल्‍ला आजम के खिलाफ दो-दो प्रमाणपत्र रखने के मामले में वादी भी हैं। दरअसल, भारतीय जनता पार्टी ने 107 उम्मीदवारों की अपनी पहली सूची जारी कर दी है.

इसमें योगी आदित्यनाथ के गोरखपुर और केशव प्रसाद मौर्या के कौशांबी की सिराथू सीट से चुनाव लड़ने का ऐलान किया गया है. लेकिन, एक और सीट बहुत महत्वपूर्ण है। यह सीट है रामपुर की वैसे तो रामपुर में दूसरे चरण में मतदान होना है, लेकिन भारतीय जनता पार्टी ने यहां भी अपने कैंडिडेट का ऐलान कर दिया है.

इसे भी पढ़े –अमित शर्मा ने कोरोना 142 दिनों तक लड़ी लड़ाई, 97% फेफड़ा संक्रमित कोरोना को दी मात,जानिए कैसे?

खास बात यह है कि आजम खान के खिलाफ मुकदमों की झड़ी लगाने वाले आकाश सक्सेना उर्फ हनी भाई को भारतीय जनता पार्टी ने अपना उम्मीदवार बनाया है. साल 2017 में प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार बनने के बाद से आजम खान पर दर्जनों मुकदमें दर्ज किए गए थे. उनपर दर्ज ज्यादातर मुकदमों में आकाश सक्सेना ही वादी हैं।

आकाश सक्‍सेना कौन हैं

भारतीय जनता पार्टी ने आकाश सक्‍सेना को रामपुर विधनसभा सीट से अपना प्रत्‍याशी बनाया है समाजवादी पार्टी के दिग्‍गज नेता आजम खान पर कुल 104 मुकदमें दर्ज हैं,  जिनमें से 33 केस अकेले आकाश सक्‍सेना ने किए हैं। सक्‍सेना आजम खान के बेटे अब्‍दुल्‍ला आजम के खिलाफ दो-दो प्रमाणपत्र रखने के मामले में वादी भी हैं।

में योगी आदित्यनाथ की सरकार बनने के बाद से आजम खान पर दर्जनों मुकदमें दर्ज किए गए थे. उनपर दर्ज ज्यादातर मुकदमों में आकाश सक्सेना ही वादी हैं।

आकाश सक्सेना के पिता कई बार रामपुर से रहे विधायक

आकाश सक्सेना ने बताया कि उनका परिवार 1980के पहले से भारतीय जनता पार्टी से जुड़ा रहा है. साल 1980 का चुनाव उनके पिता ने भाजपा के ही टिकट पर रामपुर से लड़ा था. 1985 में भी वह रामपुर से भाजपा के टिकट पर लड़े. दोनों चुनाव हारने के बाद उन्होंने सीट बदली और 1989का चुनाव रामपुर जिले की स्वार टांडा सीट से भाजपा से ही लड़े. 1989 से 2017 तक वे चार बार विधायक चुने गए. साल 2017 में आजम खान के बेटे अब्दुल्लाह आजम यहां से विधायक चुने गए थे. अब पार्टी ने रामपुर से आकाश सक्सेना को अपना उम्मीदवार बनाया है. आकाश पेशे से वकील हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button