बिजनौर : सरकारी प्राथमिक स्कूल बना तबेला

सरकारी प्राथमिक स्कूल की उस वक़्त पोल खुली जब इलाके के लोगों ने अपनी निजी पशुओं को सरकारी प्राथमिक स्कूल के कमरे में बांधकर स्कूल को पशुओं को ही तबेला बना दिया।

सरकारी प्राथमिक स्कूल की उस वक़्त पोल खुली जब इलाके के लोगों ने अपनी निजी पशुओं को सरकारी प्राथमिक स्कूल के कमरे में बांधकर स्कूल को पशुओं को ही तबेला बना दिया। मीडिया की सुर्खियां बनी खवर के बाद बिजनौर बीएसए ने टीचर के खिलाफ जाँच कर कार्यवाही की बात बया की है।

बिजनौर जिले में बेसिक शिक्षा विभाग के अफसरों की घोर लापरवाही देखने को मिली है। जलीलपुर ब्लाक के मीरापुर खादर ग्राम के प्रधान पति सुनील ने बताया कि उनकी ग्राम पंचायत के गांव मुज्जफरपुर के सरकारी प्राथमिक स्कूल में टीचर कभी कभी ही आते है और ग्रामीणों ने स्कूल के कमरों में बकरियों को बांधना शुरू कर दियाृ। स्कूल को गांव वालों ने तबेला बना कर रख दिया वही शिक्षा विभाग के अफसरों की पोल भी खोल कर रख दी है।

ग्राम प्रधान पति का ये भी आरोप है कि कल स्कूल में टीचर 11 बजे आये थे । लेकिन टीचर से लेकर एबीएसए और बीएसए तक की लापरवाही नजर आ रही है । स्कूलों में टीचर बहुत ही कम संख्या में पहुच रहे है। समय समय पर स्कूल में अफसरों द्वारा निरिकक्षण नही किया जाता है । खबर दिखाए जाने के बाद अफसरों की नींद टूटी है और आनन फानन में बीएसए जांच के बाद कार्यवाही करने की बात बयां कर रहे है ।

रिपोर्ट:-फैसल खान बिजनौर

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button