बरेली :पुलिस और क्राइम ब्रांच ने किया सरियों से भरा ट्रक लूटने वाले गैंग का खुलासा

सरियों से भरा ट्रक, पुलिस ने 20 टन सरिया, 6 लाख रुपये कैश, घटना में प्रयुक्त ट्रक, फर्जी नम्बर प्लेट व अन्य फर्जी बिल किये बरामद, 12 अगस्त को प्रेमनगर थाने में एसबीएचजी फर्म के मालिक शलभ गोयल ने दर्ज कराई थी एफआईआर।

पुलिस और क्राइम ब्रांच ने किया सरियों से भरा ट्रक लूटने वाले गैंग का खुलासा, बरामद पुलिस ने 20 टन सरियों से भरे ट्रक के साथ 3 को किया गिरफ्तार, बदमाश उड़ीसा से लूटकर ले गए थे | सरियों से भरा ट्रक, पुलिस ने 20 टन सरिया, 6 लाख रुपये कैश, घटना में प्रयुक्त ट्रक, फर्जी नम्बर प्लेट व अन्य फर्जी बिल किये बरामद, 12 अगस्त को प्रेमनगर थाने में एसबीएचजी फर्म के मालिक शलभ गोयल ने दर्ज कराई थी एफआईआर।

बरेली पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम ने हाइवे से सरिया भरे लूटने वाले ट्रक लुटेरों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने उड़ीसा से लूट कर लाया गया | सरिया से भरा ट्रक बरामद किया है। साथ ही 6 लाख रूपये भी बरामद किये है। पुलिस ने घटना में प्रयुक्त ट्रक, फर्जी नम्बर प्लेट व अन्य फर्जी बिल भी बरामद किये है।

 

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक रोहित सिंह सजवाण ने बताया की 12 अगस्त को कुछ अज्ञात व्यक्तियों द्वारा फर्जी ट्रक नम्बर के कागजात लगाकर उड़ीसा ट्रांसपोर्ट, झारखण्ड के माध्यम से रूंगटा माईन्स लिमिटेड सुन्दरगढ़ उड़ीसा से रूंगटा ब्रान्ड का 32.460 टन सरिया ( कीमत करीब 17 लाख रूपये) को लोड कराकर रास्ते से माल को गायब कर दिया गया था, जिसके सम्बन्ध में एसबीएचजी फर्म नैनीताल रोड, निकट कुदेशिया फाटक, बरेली के स्वामी शलभ गोयल निवासी प्रभातनगर बरेली द्वारा थाना प्रेमनगर पर धारा 420 / 406 आईपीसी के तहत मुकदमा पंजीकृत कराया गया था। अभियुक्तों द्वारा अपने ट्रक पर जिस नम्बर प्लेट का प्रयोग कर घटना को अंजाम दिया गया था। वह नम्बर जनपद झांसी का था।

एसपी सिटी रविंद्र कुमार ने बताया की इस सनसनीखेज घटना के अनावरण को लेकर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा शीघ्र अभियुक्तों की गिरफ्तारी व माल बरामदगी कर घटना के खुलासे के लिए निर्देशित किया गया था। जिसके बाद एसपी क्राइम सुशील कुमार के पर्यवेक्षण मे क्राइम ब्रांच टीम और थाना प्रेमनगर पुलिस द्वारा आज शास्त्री नगर तिराहा पर घटना कारित करने वाले गैंग के 03 अभियुक्तो को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से घटना से सम्बन्धित 20 टन सरिया व शेष बेचे हुए माल के 06 लाख 10 हजार रूपये तथा घटना में प्रयुक्त ट्रक नम्बर यूपी 25 एटी 6453 ( 18 टायरा), घटना में प्रयुक्त फर्जी नम्बर प्लेट ( यूपी 93 सीटी 2496 ) तथा अन्य समान व कागजात बरामद किया गया है।

गिरफ्तार अभियुक्त तसलीम ने पूछताछ में बताया कि मेरे पास राजू शर्मा की पार्टनरशिप में एक ट्रक यू०पी० 25 एटी 6453 है, जिसमें हमने मक्का भरवाकर ड्राईवर प्रेम सिंह उर्फ जगवीर सिंह पुत्र छम्मन सिंह नि० धीमरी, आजादनगर, थाना मझोला मुरादाबाद व राजू के भाई संजीव पुत्र रोशन लाल निवासी सूर्या ढाबा कस्बा व थाना किच्छा जनपद रूद्रपुर उत्तराखण्ड को न्यू जलपाईगुड़ी भेजा था | परन्तु रास्ते में बारिश से भीगकर मक्का खराब हो गयी और हमे बहुत नुकसान हो गया। तब हमने नुकसान की पूर्ति करने के लिए योजना बनाकर अपने ट्रक पर एक फर्जी नम्बर प्लेट यू०पी० 93 सीटी 2496 लगाकर उड़ीसा ट्रांसपोर्ट, झारखण्ड के माध्यम से रूंगटा माईन्स लिमिटेड सुन्दरगढ़ उड़ीसा से रूंगटा ब्रान्ड का 32.460 टन सरिया (कीमत करीब 17 लाख) को क्राईम ब्रांच बरेली और थाना प्रेमनगर पुलिस द्वारा धोखाधडी कर उडीसा से 32.460 टन सरिया लाकर बेचने वाले गैंग को गिरफ्तार कर इनके कब्जे से 20 टन सरिया व शेष बेचे हुए माल के 06 लाख 10 हजार रूपये तथा घटना में प्रयुक्त ट्रक, फर्जी नम्बर प्लेट व अन्य फर्जी बिल की बरामदग। पुलिस ने इस मामले में तसलीम पुत्र बुन्दा निवासी ग्राम रिछौला किफायतुल्ला थाना नवाबगंज, बरेली और हाल निवासी ग्राम छिनकी थाना किच्छा जनपद ऊधमसिंहनगर उत्तराखण्ड, राजू शर्मा पुत्र रोशनलाल शर्मा निवासी मोहल्ला सूर्या ढाबा, कस्बा व थाना किच्छा जनपद ऊधमसिंहनगर उत्तराखण्ड और वामिक खान पुत्र खालिद खान निवासी ग्राम मण्डनपुर थाना बहेड़ी जनपद बरेली को गिरफ्तार किया है। जबकि प्रेम सिंह उर्फ जगवीर सिंह पुत्र छम्मन सिंह निवासी धीमरी, आजादनगर, थाना मझोला मुरादाबाद और संजीव शर्मा पुत्र रोशनलाल शर्मा निवासी मोहल्ला सूर्या ढाबा, कस्बा व थाना किच्छा जनपद ऊधमसिंहनगर उत्तराखण्ड फरार है। इस सनसनीखेज घटना के सफल खुलासे के लिए प्रेमनगर इंस्पेक्टर शीतांशु शर्मा ने काफी प्रयसाओ के बाद आख़िरकार मुखबिर की सुचना पर बदमशों को पकड़ने में सफलता हासिल की। वही घटना का अनावरण एवं अभियुक्तों की गिरफ्तारी करने वाली टीम को उत्साहवर्धन हेतु वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा 25 हजार रूपये के पुरस्कार से पुरस्कृत करने की घोषणा की गयी है।

रिपोर्ट -फजलुर रहमान

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button