बांदा: सपा प्रतिनिधि मंडल करेगा महिला की मौत की जांच

उत्तर प्रदेश के बांदा में कल जिस तरह से पुलिस की प्रताड़ना से तंग होकर एक महिला ने खुद को फांसी का फंदा लगाकर अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली।

उत्तर प्रदेश के बांदा में कल जिस तरह से पुलिस की प्रताड़ना से तंग होकर एक महिला ने खुद को फांसी का फंदा लगाकर अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली। बताते चलें कि मृतक सुधा रैकवार तीन दिन से लापता अपने पुत्र की गुमसुदगी की शिकायत दर्ज कराने गयी थी और यह भी बताया कि मेरे बच्चे का अपहरण करने वाले पूर्व प्राचार्य के लड़के हैं।

जिस पर पुलिस ने उन सभी को फोन कर के कोतवाली बुलाया और सुधा रैकवार के सामने ही सभी आरोपियों को चाय नास्ता कराते रहे और अपने बच्चे की अपहरण की शिकायत लेकर गयी महिला के साथ इस कदर बदसलूकी की गई कि वह बर्दास्त नही कर पाई और उसके बाद घर आ कर फांसी लगा ली।

घटना की सूचना मिलने पर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के द्वारा घटना की जांच के लिए एक जनप्रतिनिधियों का पैनल बनाया है। जिनके द्वारा मामले की जांच कर रिपोर्ट प्रस्तुत की जाएगी। इसी को लेकर आज प्रतिनिधि मंडल के पैनल के द्वारा प्रेसवार्ता कर मामले की जानकारी दी गई और जांच रिपोर्ट अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष व अन्य बड़े नेताओं को भेजने का काम किया गया।

आपको बता दें पूरा मामला बांदा जनपद का है जहां कल एक महिला ने पुलिस की अभद्रता से परेशान होकर फांसी लगा ली थी । जिसको लेकर परिजनों के द्वारा काफी हंगामा भी किया गया लेकिन पीड़ित महिला को न तो उसका अपहृत बेटा मिला और न ही न्याय अगर कुछ मिला तो वो थी मौत।

फिलहाल आज तक पुलिस के द्वारा मृतक महिला सुधा के पुत्र का पता नहीं लगाया गया। जनपद में घटना के बाद जब पूरी खबर न्यूज़ चैनलों और पेपरों में प्रकाशित हुई तो समाजवादी पार्टी के राट्रीय अध्यक्ष ने मामले को संज्ञान में लिया और मामले की जांच करने के लिए एक प्रतिनिधि मंडल का गठन किया।

इस प्रतिनिधि मंडल में 8 लोगों को रखा गया है। जिनके द्वारा पूरे मामले की जांच की जा रही थी। आज प्रतिनिधि मंडल के द्वारा प्रेसवार्ता करते हुए बताया गया की जिस तरह से सुधा रैकवार के साथ पुलिस ने बदसलूकी की है यह निंदनीय है। यह भारतीय जनता पार्टी की सरकार एक दम भ्रस्ट सरकार है।

इस सरकार में केवल गुंडे माफिया ही राज कर रहे हैं। चुनाव के समय तो बड़े वादे किए गए थे कि बहन बेटियों को सुरक्षा के लिए पूरे इंतजाम किए जाएंगे। लेकिन यह तो कुछ और ही हो रहा है आएदिन बेटियों के बलात्कार हो रहे हैं प्रताड़ना से पत्रशन बहने फांसी लगा रही हैं। ये जो सुधा रैकवार के परिवार के साथ पुलिस ने अभद्रता की है यह निंदनीय है। पूरे मामले की जांच करने के लिए जिस तरह से राष्ट्रीय अध्यक्ष जी के द्वारा आदेशित किया गया था उस आदेश पर हम लोगों के द्वारा जांच कर ली गयी है और पूरी जांच रिपोर्ट ऊपर के उच्च पदाधिकारियों व राष्ट्रीय अध्यक्ष तक भेजी जा रही है।

रिपोर्ट: इल्यास खान

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button