बागपत : पुलिस के हाथ लगी बड़ी सफलता!

बागपत जनपद की छपरौली थाना पुलिस के हाथ आज एक बड़ी सफलता लगी है। पुलिस की तत्परता के चलते आज एक व्यक्ति की जान बच गई और पुलिस ने एक महिला समेत 4 अपराधियों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से तमंचे मय कारतूस के बरामद किए हैं।

बागपत जनपद की छपरौली थाना पुलिस के हाथ आज एक बड़ी सफलता लगी है। पुलिस की तत्परता के चलते आज एक व्यक्ति की जान बच गई और पुलिस ने एक महिला समेत 4 अपराधियों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से तमंचे मय कारतूस के बरामद किए हैं। पकड़ी गई महिला ने जमीनी रंजिश के चलते अपने देवर की हत्या के लिए 2 लाख रुपये की सुपारी दी थी। पकड़ी गई महिला इससे पहले भी अपने एक देवर की पति के साथ मिलकर हत्या की वारदात को अंजाम देकर जेल जा चुकी है फिलहाल पुलिस ने मुठभेड़ के बाद महिला और सुपारी किलर बादमाशों को गिरफ्तार कर पूरे मामले का खुलासा किया है।

ये भी पढ़ें- अजब- गजब: बॉस ने नहीं दी ऑफिस से छुट्टी तो युवक ने कर डाली किडनैपिंग की साजिश

दरअसल आपको बता दें कि मामला छपरौली थाना क्षेत्र का है जहां पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि कुछ बदमाश लूम्ब गांव के रहने वाले रिटायर्ड फौजी संजीव की हत्या करने की फिराक में है जिसके बाद पुलिस ने मुठभेड़ के बाद ट्यूबेल से 3 बदमाशों दीपक , मोनू व संजीव उर्फ काला को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया जिनके कब्जे से 2 तमंचे 315 बोर मय कारतूस के बरामद कर लिया था जबकि तीसरे एक बदमाश ने पुलिस पूछताछ में बताया कि उसका तमंचा खेतों में है जिसे बरामद करने के लिए पुलिस उसे साथ लेकर पहुंची तो वह फायर करता हुआ मौके से भागने लगा ओर जवाबी फायरिंग में पुलिस की गोली लगने से बदमाश दीपक घायल हो गया है ।ओर पुलिस ने एक महिला को भी गिरफ्तार किया जिसने अपने ही देवर की हत्या कराने के लिए 2 लाख रुपये की सुपारी दी थी ।

पकड़े गए बदमाश दीपक ने बताया कि वह बागपत जेल में बंद था जहां पर उसकी मुलाकात जेल में बंद लूम्ब गांव के रहने वाले प्रदीप पुत्र गनेशी व उसकी पत्नी अनुपमा से हुई थी ओर प्रदीप ने 2018 में अपने छोटे भाई की जमीनी रंजिश के चलते हत्या कर दी थी जिसके बाद पति पत्नी जेल चले गए थे और उसका भाई संजीव फौजी मुकदमे की पैरवी कर रहा था और उसे रास्ते से हटाने के लिए ही 2 लाख रुपये की सुपारी दी गई थी और जब उसकी पत्नी ओर वह जेल से छूटकर बाहर आ गए थे तो उन्होंने उसकी हत्या की।योजना बनाई थी ।ओर जेल से जमानत पर छूटने के बाद प्रदीप की पत्नी अनुपमा ने देवर संजीव की हत्या करने के लिए अपराधियों ओर हथियारों को एकत्रित किया और योजना के अनुसार हथियारों का इंतेजाम मेहरबान नाम के व्यक्ति ने किया था जो की अभी फरार चल रहा है ।

 

वहीं एसपी बागपत ने बताया कि जनपद बागपत में पंचायत चुनाव के दृष्टिगत हम लोग जो विभिन्न रंजिशें चल रही है उनकी मोनिटरिंग कर रहे हैं इसी बीच एक सूचना प्राप्त हुई कि थाना छपरौली के ग्राम लूम्ब में रहने वाले एक संजीव नाम के व्यक्ति की हत्या कराने की सुपारी दी गई है इसमें तीन बदमाश थाना छपरौली क्षेत्र में एक ट्यूबवेल पर रुके हुए हैं जिसपर पुलिस ने रेड दी तो तीन बदमाशों को अरेस्ट किया गया है जिनके पास से दो तमंचे मौके से बरामद हुए है ओर जब तीसरे बदमाश का तमंचा बरामद करने के लिए पुलिस गई तो बदमाश ने भागने की कोशिश की ओर पुलिस पर फायर किया ओर पुलिस की तरफ से की गई जवाबी फायरिंग में वो बदमाश घायल हो गया है ओर हमने जब पूरी छानबीन की तो पता चला कि संजीव फौजी जिसकी हत्या करने के लिए बदमाश आये थे वो मृतक भाई सुधीर की हत्या के मुकदमे में पैरवी कर रहा था ।ओर सुधीर की हत्या भी इन्ही के सगे भाई प्रदीप ने की थी प्रदीप की पत्नी जो जेल में बंद थी ओर जब वह जेल से बाहर आई तो प्रदीप के माध्यम से शूटर हायर किये जिन्हें 2 लाख रुपये के ठेके पर ये हत्या करने का वादा किया गया था और उनको ये हथियार एक मेहरबान नाम के व्यक्ति ने उपलब्ध कराए थे । जिस पर तत्परता से कार्रवाई करते हुए छपरौली पुलिस ने हत्या कराने से रोका है ओर इसमें तीन शूटर ओर इसकी प्लानिंग करने के लिए प्रदीप की पत्नी को गिरफ्तार कर लिया है और जिसने हथियार उपलब्ध कराए थे मेहरबान वो अभी वांछित चल रहा है जिसके लिए दबिशें दी जा रही हैं ।

रिपोर्ट- अजय त्यागी

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button