आजमगढ़: गला रेतकर युवक की हत्या, आरोपी गिरफ्तार

आजमगढ़ बिलरियागंज थाने की पुलिस ने रविवार की दोपहर क्षेत्र के मधनापार गांव के समीप चाकू से गला रेतकर की गई युवक की हत्या का खुलासा करते हुए मंगलवार की सुबह घटना को अंजाम देने वाले मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

आजमगढ़ बिलरियागंज थाने की पुलिस ने रविवार की दोपहर क्षेत्र के मधनापार गांव के समीप चाकू से गला रेतकर की गई युवक की हत्या का खुलासा करते हुए मंगलवार की सुबह घटना को अंजाम देने वाले मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। घटना का कारण प्रेम प्रपंच बताया गया है। इस मामले में पुलिस पकड़े गए आरोपी के भांजे की तलाश में जुट गई है।

जीयनपुर कोतवाली क्षेत्र के ग्राम गड़ेरुआ (मत्ती का पूरा) निवासी मनीष मिश्रा पुत्र राकेश मिश्रा रविवार को दिन में गुजरात प्रांत के सूरत शहर जा रहे पिता को ट्रेन पर बैठाने के लिए जिला मुख्यालय आया था। पिता को रेलवे स्टेशन छोड़ने के बाद वह बिलरियागंज क्षेत्र के पटवध सरैया स्थित औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान में अपनी फीस जमा करने गया। वहां उसके परिचित दो युवक मिले और दोनों उसे अपने साथ लेकर बिलरियागंज से मालटारी जाने वाले मार्ग की ओर चल दिए।

बताते हैं कि जीयनपुर क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली युवती से मृतक मनीष व उसके साथ रहे एक अन्य युवक की अतरंग बातें होती थी। युवती का मनीष के प्रति आकर्षण ज्यादा देख दूसरा युवक उसे रास्ते से हटाने की योजना बनाया और इस साजिश में उसने अपने रिश्ते के भांजे को भी शामिल कर लिया।

योजना के अनुसार रविवार को उन्हें मौका मिला और प्रशिक्षण केंद्र पर पहुंचे मनीष को दोनों अपनी बातों में लेकर उसके घर की ओर चल दिए। रास्ते में शुरू हुई बारिश को देख सभी मधनापार गांव की पुलिया के पास स्थित बाग में रुक गए। इसी दौरान मौका पाकर मनीष के साथ रहे दोनों युवकों ने ताबड़तोड़ उस पर चाकू से प्रहार करना शुरू कर दिया।

बचाव के लिए मनीष हमलावरों से भिड़ा लेकिन सफल नहीं हो पाया और हमलावर उसका गला रेत कर मौके से फरार हो गए। घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतक के पास से मिली मोबाइल के आधार पर घटना की जानकारी उसके परिजनों को दी। मौके पर पहुंचे मृतक के भाई पीयूष ने मृतक की शिनाख्त किया और पुलिस को पूछताछ के दौरान आवश्यक जानकारी दी। इसके बाद पुलिस ने अपनी विवेचना शुरू की। जांच के दौरान पुलिस को घटना के समय मृतक के साथ रहे दोनों युवकों के बारे में जानकारी मिली और उनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने मुखबिर का सहारा लिया।

सोमवार की सुबह पुलिस को सूचना मिली कि हत्या की वारदात को अंजाम देने वाला मुख्य आरोपी कंधरापुर क्षेत्र अंतर्गत सियरहां मोड़ पर मौजूद है। पुलिस तत्काल मौके पर पहुंची और वहां मौजूद युवक को अपनी गिरफ्त में ले लिया। तलाशी के दौरान पुलिस ने उसके कब्जे से 315 बोर का तमंचा व चार जिंदा कारतूस बरामद किया।

पूछताछ में आरोपी ने अपना जुर्म कबूल करते हुए बताया कि प्यार में बाधक बने मनीष को ठिकाने लगाने के लिए हमने अपने भांजे की मदद ली और उसी के साथ वारदात को अंजाम दिया। पकड़ा गया रूपेश उपाध्याय पुत्र स्व. दिवाकर उपाध्याय कंधरापुर क्षेत्र के सेंहदा गांव का निवासी बताया गया है। इस मामले में पुलिस को हत्यारोपी रुपेश के भांजे सागर तिवारी पुत्र स्व. बृजेश तिवारी निवासी भागमलपुर (धनकपुर) थाना सिधारी की तलाश है।

रिपोर्ट: अमन गुप्ता

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button