आजमगढ़: चूहे व चीटियां खा गए मोर्चरी में रखा हुआ महिला का शव

यह पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही की इंतेहा है। एक महिला का लावारिश लाश मोर्चरी में चार दिन तक यूं ही पड़ी रही।

यह पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही की इंतेहा है। एक महिला का लावारिश लाश मोर्चरी में चार दिन तक यूं ही पड़ी रही। पुलिस ने न तो पोस्टमार्टम कराया और न ही स्वास्थ्य विभाग ने शव की सुध ली। नतीजा, चीटियां और चूहे शव का अधिकांश भाग चट कर गए। दुर्गंध आने पर मंगलवार को इसका पता चला।

उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ के बलरामपुर मंडलीय अस्पताल के रिकॉर्ड के मुताबिक 29 अप्रैल की शाम बिलरियागंज में सड़क पर घायल अवस्था में मिली 32 वर्षीय अज्ञात महिला को 108 नंबर की एंबुलेंस के कर्मचारियों ने शाम पांच बजे मंडलीय अस्पताल में भर्ती कराया था। अगले दिन 30 अप्रैल की सुबह उसकी मौत हो गई तो कर्मचारियों ने शव मोर्चरी में रखवा दिया।

अस्पताल के रिकॉर्ड के मुताबिक 29 अप्रैल की शाम बिलरियागंज में सड़क पर घायल अवस्था में मिली अज्ञात महिला (32) को 108 नंबर की एंबुलेंस के कर्मचारियों ने शाम पांच बजे मंडलीय अस्पताल में भर्ती कराया था। अगले दिन 30 अप्रैल की सुबह उसकी मौत हो गई तो कर्मचारियों ने शव मोर्चरी में रखवा दिया। साथ ही शव के शिनाख्त व पोस्टमार्टम की प्रक्रिया के लिए पुलिस को सूचना भेज दी। लेकिन स्वास्थ्य व पुलिस विभाग दोनों की लापरवाही के चलते न तो शव की शिनाख्त हो सकी, न ही पोस्टमार्टम कराया गया।

रिपोर्टर अमन गुप्ता

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button