आजमगढ़: अब किसानों की लड़ाई में साथ नजर आएंगे अधिवक्ता लिया बड़ा फैसला

अधिवक्ता बोले, किसानों के साथ भेदभाव नहीं करेंगे बर्दाश्त

आजमगढ़. कृषि विधेयक के विरोध में किसानों द्वारा किये जा रहे आंदोलन में अब अधिवक्ताओं (advocates)  की भी इंट्री हो गयी है। संविधान बचाओ अधिवक्ता अभियान समिति ने भी अब किसानों के समर्थन का फैसला कर लिया है।

किसान आंदोलन को समर्थन देने का निर्णय लिया गया

संगठन के जिला इकाई की दीवानी बार के पूर्व अध्यक्ष सच्चिदानन्द राय के चैम्बर में हुई बैठक में कृषि कानून व किसानों के आंदोलन पर विस्तार से चर्चा की गयी। किसान बिल वापस लिये जाने को लेकर चल रहे किसान आंदोलन को समर्थन देने का निर्णय लिया गया।

ये भी पढ़ें –शॉपिंग कराने के बहाने बॉयफ्रेंड ने गर्लफ्रेंड को बुलाया और आठ दोस्तों के साथ मिल कर …..

सच्चिदानन्द राय ने कहा कि संगठन के माध्यम से किसान आंदोलन को बल देने के लिए रणनीति तैयार की जा रही है। जिसमें संगठन आंदोलन में विधिक विचार विमर्श के लिए आगामी 16 जनवरी 2021 को बैठक करेगा। इस बैठक में तय किया जाएगा कि हम किसानों की किस तरह से कानूनी मदद कर सकते हैं।

इसके लिए चाहे जो बलिदान देना पड़े…

उन्होंने कहा कि अधिवक्ता (advocates) समाज का सजग प्रहरी होता है। इसलिए किसानों के साथ हो रही नाइंसाफी को बर्दाश्त नहीं करेगा। किसान बिल को वापस लिये जाने को लेकर अधिवक्ता अपना पूरा जोर लगा देगा। इसके लिए चाहे जो बलिदान देना पड़े।

ये भी पढ़ें – OMG: बेटे के लिए सजी थी दुल्हन और मंडप….. पिता बन बैठा ‘दूल्हा’

बैठक में अनिल कुमार राय, दयाराम यादव, राजित राम यादव, केदार वर्मा, अशोक राय, शफीक अहमद, दिवाकर सिंह, शहनवाज बेग, रविन्द्र कुमार यादव, जनार्दन राय आदि अधिवक्तागण उपस्थित रहे।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button