आजमगढ़। नशे में धुत दोस्तों ने कर डाली दोस्त की हत्या, जांच में जुटी पुलिस

आजमगढ़ के गंभीरपुर थाना के कोहरौड़ा गांव में एक दिन पूर्व नदी के किनारे मिली युवक की लाश मामले में पुलिस 24 घंटे के भीतर खुलासा कर मृतक के

आजमगढ़ के गंभीरपुर थाना के कोहरौड़ा गांव में एक दिन पूर्व नदी के किनारे मिली युवक की लाश मामले में पुलिस 24 घंटे के भीतर खुलासा कर मृतक के तीन साथियों को ही गिरफ्तार किया है। आरोप है कि सभी एक ही ईंट भट्टा पर काम करते थे। दो दिन पूर्व रात के शराब पी रहे थे इसी में कोई बात ज्यादा बढ़ने पर तीनों ने मिलकर साथी की हत्या कर दी और लाश को ठिकाने लगा दिया था। तीनों आरोपित झारखंड निवासी हैं।

अपर पुलिस अधीक्षक नगर शैलेंद्र लाल ने पुलिस लाइन में तीनों आरोपियों को पेश कर घटना का खुलासा करते हुए कहा कि 1 दिन पूर्व गंभीरपुर के कोहरौड़ा में नदी के किनारे कुछ बच्चे खेल रहे थे। तभी लाश मिली थी। सूचना के बाद पहुंची पुलिस ने अज्ञात लाश के रूप में कार्रवाई शुरू की थी। बाद में युवक की शिनाख्त गंभीरपुर थाना क्षेत्र के ही खराटी गांव निवासी 42 वर्षीय चंद्रशेखर चौहान के रूप में की गई थी। वह मुहम्मदपुर बाजार में बाइक मैकेनिक का काम करता था। पुलिस मामले की जांच पड़ताल में जुटी थी। तभी एक क्लू के आधार पर उसके तीन परिचितों को पकड़ा गया, जो अंतिम समय में चंद्रशेखर के साथ दिखाई दिए थे।

पूछताछ के बाद थोड़ी देर में ही तीनों आरोपी टूट गए और उन्होंने घटना का पूरा ब्यौरा पुलिस के सामने सुना दिया। आरोपियों में झारखंड के रांची निवासी अजय खलखो, मुकेश लकड़ा व चतरा जिला निवासी पिंटू बिहार है। एसपी सिटी ने बताया कि भट्ठा मालिक से ने वर्ष पर मिले पैसे से पार्टी हो रही थी। शराब के नशे में चारों थे। कोई पुराना विवाद उभर आया।

चंद्रशेखर कई बार भट्टे पर ही आ जाता था और यहीं साथ खाना पीना होता था। घटना के दिन चंद्रशेखर कहीं से पीकर आया और गाली गलौज देने लगा। जिसको लेकर सभी आपस में भिड़ गए और 3 साथी एक तरफ होकर चंद्रशेखर की लाठी-डंडे से पीटकर व गला दबाकर हत्या कर दिए और शव को नदी किनारे फेंक कर भाग गए। परिजनों को भी इसकी जानकारी नहीं थी। परिजन तलाश कर रहे थे। जब पुलिस ने अज्ञात लाश बरामद की तब परिजनों को पता चला कि चंद्रशेखर की हत्या हो गई।

रिपोर्टर – अमन गुप्ता

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button