492 साल बाद भव्य स्वागत को तैयार अयोध्या, राम के दीदार का हो रहा 16 श्रृंगार

अयोध्या में 5.51 लाख दीयों का बनेगा गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड

अयोध्या में योगी सरकार द्वारा 2017 में दीपोत्सव मनाने की शुरुआत के बाद अब तक दीपों की संख्या में लगभग 4 गुना की वृद्धि हुई है इसलिए अयोध्या की अबकी दिवाली कुछ खास है, अपने राम के दीदार में अयोध्या का 16 श्रृंगार हो रहा है।

इस सुनहरे अवसर पर अयोध्या के 24 घाट दीये की रोशनी से जगमगायेंगे। खास बात यह है कि दिवाली में कोविड प्रोटोकॉल को ध्यान में रखते हुए इसके अनुपालन के लिए व्यापक इंतजाम किए गए है।

योगी आदित्यनाथ ने 2017 में अयोध्या में दीपोत्सव मनाने की शुरुआत की

अबकी दीपोत्सव पर राम की नगरी अयोध्या 5 लाख 51 हजार दीपों से जगमगाएगी और गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अयोध्या अपना नाम दर्ज कराएगा। 492 साल बाद यह मौका आया है जब अयोध्या भगवान श्रीराम के भव्य स्वागत की गवाह बनेगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 2017 में अयोध्या में दीपोत्सव मनाने की शुरुआत की। इस दौरान 1 लाख 65 हजार दीप जले। वहीं 2018 में 3 लाख 150 दीप जलाकर विश्व रिकॉर्ड बना। इसके बाद 2019 में 5 लाख 51 हजार दीप जलाकर विश्व रिकॉर्ड बना।

ये भी पढ़ें – द यूपी खबर की खास रिपोर्ट : यहाँ लगती है भूतों की अदालत

29 हजार लीटर तेल से जगमग होगी अयोध्या

रामनगरी अयोध्या में 24 घाटों पर 6 लाख दीये प्रज्जवलित किए जायेंगे। जिसमें 29 हजार लीटर तेल से अयोध्या दीयों की रोशनी से जगमग होगी। इसमें 6 लाख दीये में 7.5 लाख रूई का इस्तेमाल भी होगा।

राम मंदिर बनने के निर्णय के बाद से दीपोत्सव के लिए रामनगरी के साधु-संत और सभी भक्त उत्साहित हैं। अयोध्या में त्रेतायुग जैसी दिवाली मनाने की परंपरा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 2017 में शुरू की थी, तब से हर साल यहां दीप प्रज्जवलन का नया रिकॉर्ड बन रहा है। भगवान श्रीराम की नगरी अयोध्या में रामजन्मभूमि पर विराजमान रामलला के दरबार में राज्याभिषेक के लिये दीपोत्सव मनाने की तैयारी पूरी कर ली गई है।

  • हमें फेसबुक पेज को अभी लाइक और फॉलों करें @theupkhabardigitalmedia 

  • ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @theupkhabar पर क्लिक करें।

  • हमारे यूट्यूब चैनल को अभी सब्सक्राइब करें https://www.youtube.com/c/THEUPKHABAR

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button