पुलिस कमिश्नर आईपीएस असीम अरुण का VRS स्वीकार, इनके साथ दो और बड़े नेता भाजपा में होंगे शामिल

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले कानपुर के पुलिस कमिश्नर असीम अरुण ने वीआरएस की घोषणा करके चौंका दिया। उनके राजनीति में आने और विधानसभा चुनाव लड़ने की संभावना है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले कानपुर के पुलिस कमिश्नर असीम अरुण ने वीआरएस की घोषणा करके चौंका दिया। उनके राजनीति में आने और विधानसभा चुनाव लड़ने की संभावना है। बता दें कि चुनाव आयोग द्वारा शनिवार को चुनाव कार्यक्रम की घोषणा के बाद 1994 बैच के यूपी कैडर के आईपीएस अधिकारी असीम कुमार अरुण ने फेसबुक पर घोषणा की कि उन्होंने स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति (VRS) की मांग की थी जिसे स्वीकार कर लिया गया है। 15 जनवरी को रिटायर होने वाले है।

इसे भी पढ़ें – थायराइड की समस्या से ग्रसित लोगों में अक्सर दिखने लगते हैं ऐसे शुरूआती लक्ष्ण

बतातें चलें की असीम अरुण को मार्च 2021 में कानपुर का पुलिस कमिश्नर नियुक्त किया गया था। वहीं दुसरे तरफ अटकले लगाई जा रहीं है कि भारतीय जनता पार्टी से जुड़ कर अपनी राजनैतिक कैरियर की शुरुआत करने वालें हैं। जिनके साथ दो और बड़ें नेता भाजपा पार्टी में शामिल होने वाले हैं जिनमें पहला नाम राजेश्वर सिंह और दूसरे पूर्व केंद्रीय मंत्री (यूपीए) पूर्वांचल से होने वालें हैं। जल्द ही नाम की घोषणा कर दी जाएगी।

वहीं, एक और बड़ा सवाल यह है कि आसिम के बाद कानपुर कमिश्नरेट का प्रभारी कौन होगा। अब सबसे बड़ा सवाल यह है कि उनके जाने के बाद अगला पुलिस कमिश्नर कौन होगा. सूत्रों के मुताबिक फिलहाल तीन नामों पर चर्चा चल रही है। पुलिस मुख्यालय (पीएचक्यू) के लंबे समय से कार्यरत सदस्य बीपी जोगदंड, डीजीपी पीएचक्यू में तैनात एडीजी पीसी मीणा और पीएचक्यू में तैनात नवनीत सिकेरा के नाम वरिष्ठता के आधार पर चुनाव आयोग को भेजने पर सहमति बनी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button