अमित शर्मा ने कोरोना 142 दिनों तक लड़ी लड़ाई, 97% फेफड़ा संक्रमित कोरोना को दी मात,जानिए कैसे?

शर्मा की जान बचाने में उनकी साली डॉ. मेघा दुबे का महत्वपूर्ण योगदान रहा हैदराबाद के अस्पताल में करीब 4 महीने तक इलाज चला और सवा से डेढ़ करोड़ रुपये इलाज में खर्च हुए.

भोपाल: मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के रहने वाले अमित शर्मा ने कोरोना संक्रमण से 142 दिनों तक लड़ाई की. जब कोविड-19 की दूसरी लहर चल रही थी, तब अमित शर्मा जरूरतमंदों तक खाना पहुंचा रहे थे. इस बीच कोरोना संक्रमण ने उन्हें ही चपेट में ले लिया।इसके बाद वे पिछले साल अप्रैल में काफी दिनो तक भर्ती रहे. लेकिन, हालत में सुधार नहीं हुआ। क्योंकि, फेफड़ों में बहुत ज्यादा संक्रमण हो चुका था. ठीक होने की उम्मीद लगातार कम होती जा रही थी. शर्मा की जान बचाने में उनकी साली डॉ. मेघा दुबे का महत्वपूर्ण योगदान रहा हैदराबाद के अस्पताल में करीब 4 महीने तक इलाज चला और सवा से डेढ़ करोड़ रुपये इलाज में खर्च हुए.उनका इतना लंबा इलाज इसलिए चला क्योंकि, कोरोना की दूसरी लहर में उनके 97% फेफड़े प्रभावित हुए थे. शर्मा के इलाज पर करीब-करीब डेढ़ करोड़ रुपये खर्च हुए.

इसे भी पढ़े –लता मंगेशकर को अभी भी आईसीयू में रखा गया है, जानें अब कैसी है हालत?

परिवार ने दिया साथ अमित शर्मा दे दिये कोरोना को मात

अमित शर्मा ने बताया कि हैदराबाद के यशोदा अस्पताल के डॉक्टर हरी कृष्ण ने सही समय पर सही इलाज शुरू किया। उनके इलाज से 100 में से 88 फ़ीसदी मरीज ठीक हुए हैं, जिसमें एक मैं भी हूं। कोरोना की वजह से उन्होंने 3 महीने कुछ दिनों तक कुछ भी नहीं खाया. हॉस्पिटल में इलाज के दौरान विटामिन के इंजेक्शन लगते रहे. यशोदा हॉस्पिटल में इलाज के बाद अपोलो रिहैब सेंटर हैदराबाद में एक महीने तक रहे। लंग्स को मजबूत करने के लिए एक्सरसाइज भी खूब की और 142 दिन में पूरी तरह से स्वस्थ होकर घर वापस लौटे. उन्होंने बताया कि कोरोना की वजह से उनका वजन 77 किलो से घटकर 41 किलो पर पहुंच गया है. परिवार की हिम्मत की वजह से ही पूरी तरह सकुशल वापस लौटे. परिजन दिन-रात एक कर अस्पताल में डटे रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button