अमेठी: जगदीशपुर विधानसभा में चुनाव के पहले रोड नहीं तो वोट नही का ग्रामीणों

नेताओं का गांव में प्रवेश वर्जित है का लगाया वोर्ड और वोट का बहिष्कार किया है।

विधानसभा चुनाव 2022 का नजदीक आते ही ग्रामीणों ने अपनी मांगों को लेकर उठाई आवाज केन्द्रीय मंत्री स्मृति इरानी के लोकसभा क्षेत्र व राज्य मंत्री शुरेस पासी के विधानसभा क्षेत्र के जगदीशपुर क्षेत्र के पूरे लाला ईश्वरी दास गांव के ग्रामीणों ने गांव के बाहर रोड नहीं तो वोट नहीं व ऐसी में रहने वाले नेताओं का गांव में प्रवेश वर्जित है का लगाया वोर्ड और वोट का बहिष्कार किया है।

उत्तर प्रदेश में आगामी 2022 का विधानसभा चुनाव आते ही जनपद के विधानसभा क्षेत्र जगदीशपुर के ग्रामीण क्षेत्रों में सरकार द्वारा विकास की किरण न पहुंचने से ग्रामीण अपनी आवाज को पुरजोर तरीके से उठाने लगे हैं .

जहां जगदीशपुर विधानसभा क्षेत्र के पूरे लाला ईश्वरी दास में ग्रामीणों द्वारा गांव के बाहर बोर्ड लगाया गया है कि गांव के लिए सड़क नहीं तो वोट नहीं जहां ग्रामीणों द्वारा सड़क बनाने की मांग की जा रही है वहीं ग्रामीण बता रहे हैं कि केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी व भाजपा जिला अध्यक्ष दुर्गेश त्रिपाठी सहित राज्य मंत्री सुरेश पासी से सड़क की मांग लंबे समय से की जा रही है इसको लेकर कई बार धरना प्रदर्शन भी किया गया.

जिसके बाद अब चुनाव में हम सभी ग्रामीणों ने गांव में वोट मांगने आने वाले नेता मंत्री व जनप्रतिनिधियों के बहिष्कार करने का निर्णय लिया है। अगर इनके द्वारा किए गए वादे के अनुसार गांव में अगर सड़क नहीं बनती है तो फिर गांव में इनको वोट के लिए आने नहीं दिया जाएगा और ग्रामीण वोट का बहिष्कार करेंगे जिसके लिए गांव के बाहर ही है बोर्ड लगाया गया है.

वहीं ऐसे विरोध से अमेठी जिले में 5 साल में भाजपा सरकार द्वारा किए गए कार्य जगदीशपुर विधानसभा में हवा हवाई ही साबित हो रहे हैं जहां ग्रामीणों को आने जाने के लिए सड़क की सुविधा नहीं उपलब्ध करा पा रही है। उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार को इसका खामियाजा आने वाले 2022 के विधानसभा चुनाव में देखने को मिल सकता है।

बाईट-विनोद कुमार (ग्रामीण)

बाईट- शिव कुमार लोधी (किसान यूनियन जिला प्रभारी अमेठी)

Back to top button