सुलतानपुर: AIMIM चीफ ओवैसी गरजे, बोले मोदी दो मर्तबा प्रधानमंत्री बने ओवैसी की वजह से नही, अखिलेश और मायावती की नासमझी की वजह से

आज ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लेमीन (AIMIM) चीफ असाउद्दीन ओवैसी अयोध्या से यूपी चुनाव का शंखनाद करने के बाद बुधवार को भगवान राम के पुत्र कुश द्वारा बसाए गए कुशभवनपुर (सुलतानपुर) जिले में जनसभा को संबोधित किया।

आज ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लेमीन (AIMIM) चीफ असाउद्दीन ओवैसी अयोध्या से यूपी चुनाव का शंखनाद करने के बाद बुधवार को भगवान राम के पुत्र कुश द्वारा बसाए गए कुशभवनपुर (सुलतानपुर) जिले में जनसभा को संबोधित किया। शहर से 15 किलोमीटर दूर ओदरा गांव में उन्होंने 52 मिनट तक आए हुए लोगों को संबोधित किया। ओवैसी ने कहा कि नरेंद्र मोदी दो मर्तबा प्रधानमंत्री बने उन्होंने सवाल करते हुए कहा ओवैसी की वजह से? फिर खुद ही जवाब दिया अखिलेश और मायावती की नासमझी की वजह से।

उन्होंने आगे कहा कि कहा जाता है़ ओवैसी लड़ेगा तो वोट काट देगा। ओवैसी ने सवाल करते हुए पूछा सुलतानपुर में आप सब ने अखिलेश यादव को झोली भर कर वोट दिया तो सूर्या (सूर्यभान सिंह बीजेपी विधायक) कैसे जीता? 2019 में प्रधानमंत्री के चुनाव में सुलतानपुर से बीजेपी कैसे जीती। ओवैसी तो चुनाव नही लड़ रहा था। ओवैसी ने कहा कि क्या अखिलेश यादव ने कहा कि हिंदू ने वोट नही किया इसलिए हारे? क्यों मुसलमानों को कहते हैं मुसलमानों ने वोट नही दिया, क्या मुसलमान कैदी है,गुलाम है किसी का ? ओवैसी ने ये भी कहा कि दो बार बीजेपी मुसलमानों के वोटो से नही जीती है़। 2014 और 2019 में उसे सिर्फ 6% मुस्लिमों के ही वोट मिले हैं।

AIMIM चीफ ओवैसी ने आगे कहा कि प्रधानमंत्री के चुनाव में मजलिस तीन सीटों पर चुनाव लड़ी थी। हैदराबाद, औरंगाबाद और किशनगंज। हमने हैदराबाद में बीजेपी को हराया। जबकि मोदी और अमित शाह आए थे हमें हराने, दाल नही गली।साथ ही उन्होंने नवजवानों से कहा इसे फेसबुक नही फसादबुक पर वीडियो डालना। औरंगाबाद में 21 साल से शिव सेना सांसद को मजलिस ने हराया। किशनगंज में हम हार जरुर गए लेकिन लाखों वोट मिले। ओवैसी ने कहा कि जहां मैं लड़ता हूं वहां बीजेपी नही जीतती।

साथ ही साथ वहीं सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ पर तंज कसते हुए ओवैसी ने कहा कि मैं उन्हें बाबा कहता हूं। केंद्र सरकार ने इन्हें 116 करोड़ रुपए अल्पसंख्यकों के लिए दिए, उन्होंने केवल 10 करोड़ रुपए खर्च किए। पार्लियामेंट में अखिलेश भईया ने सवाल नहीं किया। हमनें जब पूछा कितने आवास मिले तो पता चला ग्रामीण आवास योजना के तहत 2017-18 में 7 लाख 65 हजार घरो में से 10 मकान मुसलमानों को मिला है़।

 

बाईट—AIMIM चीफ़ ओवैसी सुल्तानपुर से

सुल्तानपुर से सन्तोष पाण्डेय की रिपोर्ट

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button