आगरा हाईजैक बस- अपने ही बिछाए जाल में फंस गई आगरा पुलिस…

आगरा हाईजैक बस- अपने ही बिछाए जाल में फंस गई आगरा पुलिस...

Agra hijack bus Agra police caught in its own trap :- आगरा. उत्तर प्रदेश के आगरा से अगवा हुई बस इटावा में बरामद हो गई है। 

Hijack bus recovered Agra

Agra hijack bus Agra police caught in its own trap:-:-

अपने ही बनाए जाल में फंस गई आगरा पुलिस.
श्रीराम फाइनेंस कम्पनी ने जारी किया ब्यौरा.
मौजूद वक्त में बस पर कोई लोन नहीं-कम्पनी.
2 साल पहले लोन सेटल हो चुका है-अब्बासी.
इकबाल अब्बासी श्रीराम कंपनी के हेड हैं.
बस का लोन 2 साल पहले ही खत्म हो चुका है.
‘श्रीराम फाइनेंस को बदनाम करने की साजिश.’
अपराधियों को बचाने में जुटी पुलिस बेनकाब.
2018 के लोन सेटलमेंट का ब्यौरा जारी.
बस दीपा अरोड़ा के नाम खरीदी गई थी.

  • आगरा. उत्तर प्रदेश के आगरा से अगवा हुई बस इटावा में बरामद हो गई है।
  • वहीं, झांसी में मौजूद बस मालिक के जीजा गगन ने कहा कि बस फाइनेंस नहीं थी।
  • किसी ने साजिश के तहत बस को अगवा कर लिया है।
  • आगे की जानकारी के लिए मैंने पुलिस से संपर्क किया है।

बस पर 34 यात्री सवार थे

  • दरअसल, आज सुबह 3 बजे गुरुग्राम से झांसी के मऊरानीपुर, छतरपुर, पन्ना के लिए 34 यात्रियों को लेकर एक प्राइवेट बस निकली थी।
  • बस जैसे ही आगरा के दक्षिणी बाईपास के आगे पहुंची।
  • तभी बस को कुछ लोगों ने ओवरटेक किया और बताया कि गाड़ी पर फाइनेंस है।
  • किश्त समय से नहीं दिया जा रहा है।

Hijack bus recovered Agra

बस में सवार यात्रियों को इसकी जानकारी नहीं थी

  • कार सवार लोगों ने कहा कि हम बस को ले जा रहे हैं।
  • इन लोगों ने ड्राइवर और कंडक्टर को अपने साथ जाइलो में बैठा लिया।
  • और कार में सवार एक शख्स बस को चलाकर ले जाने लगा।
  • बस में सवार यात्रियों को इसकी जानकारी नहीं थी।
  • आगरा पुलिस के मुताबिक, बाद में बस के यात्रियों को उतारकर दूसरी गाड़ी से झांसी भेज दिया गया।

Hijack bus recovered Agra

  • बस यात्री अपने-अपने गंतव्य तक पहुंच चुके हैं।
  • छतरपुर पहुंचे यात्री धर्मेद्र चतुर्वेदी ने कहा कि बस के भीतर कोई विवाद नहीं, कोई बदसलूकी नहीं हुई।
  • बस के बाहर कुछ विवाद हुआ था, जिसके बारे में किसी यात्री को कोई जानकारी नहीं हुई।
  • पुलिस की इन यात्रियों से लगातार बात हो रही है।
  • वहीं, बस मालिक के रिश्तेदार गगन ने कहा कि मुझे जानकारी मिली कि बस से ड्राइवर, कंडेक्टर को उतार दिया गया और उसे अगवा कर लिया गया है।
  • परिवार में आकस्मिक मृत्यु हो जाने के कारण मेरे ससुर-साले नहीं आ सकते हैं।
  • इसलिए मैं चला आया, जहां तक मुझे जानकारी है, यह बस फाइनेंस की नहीं है।
  • उधर, अगवा की गई बस को इटावा से बरामद कर लिया गया है।
  • पुलिस यात्रियों और बस को अगवा करने वाले लोगों की तलाश में जुटी हुई है।

चालक और परिचालक ने मलपुरा थाने पहुंचकर घटना की जानकारी पुलिस को दी

  • बस को लेकर आगे चल दिए।
  • इधर चालक-परिचालक को अपनी एक गाड़ी में बैठा लिया।
  • चालक ने बताया कि बदमाश बस को ग्वालियर रोड पर उतारकर सैंया की तरफ ले गए।
  • सैंया से फतेहाबाद होते हुए लखनऊ एक्सप्रेस वे पर आ गए।
  • परिचालक से सवारियों के रुपये वापस कराए और सवारियों समेत बस लेकर चले गए।
  • बदमाशों ने चालक और परिचालक को दिल्ली-कानपुर हाईवे पर कुबेरपुर के पास छोड़ दिया।
  • उस समय सुबह के चार बजे थे।
  • चालक और परिचालक ने मलपुरा थाने पहुंचकर घटना की जानकारी पुलिस को दी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button