हाथरस वेबसाइट के मामले में बोले एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ‘अभी कुछ भी कहना ठीक नहीं’

हाथरस वेबसाइट के मामले में एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने कहा कि सूचनाएं एकत्रित की जा रही हैं।सूचना एकत्रित करने के बाद आपको अवगत करा कर ब्रीफ किया जाएगा।अभी कुछ भी कहना ठीक नहीं।

हाथरस वेबसाइट के मामले में एडीजी लॉ एंड ऑर्डर (ADG Law and Order ) प्रशांत कुमार ने कहा कि सूचनाएं एकत्रित की जा रही हैं।सूचना एकत्रित करने के बाद आपको अवगत करा कर ब्रीफ किया जाएगा।अभी कुछ भी कहना ठीक नहीं।

विरोध प्रदर्शन की आड़  में बेवसाइट पर बताया गया देश और प्रदेश में दंगे कराने और दंगों के बाद बचने का तरीका। मदद के बहाने दंगों के लिए फ़ंडिंग की जा रही थी। फ़ंडिंग की बदौलत अफ़वाहें फैलाने के लिए मीडिया और सोशल मीडिया के दुरूपयोग के सुराग भी मिले है। जांच एजेंसियों के वेबसाइट की डिटेल्स और पुख्ता जानकारी हाथ लगी है।

विरोध प्रदर्शन की आड़ में निशाना बनाने की रणनीति

अमेरिका में हुए दंगों की तर्ज पर ही यूपी की घटना को लेकर देश भर में जातीय दंगे कराने की तैयारी थी। बहुसंख्यक समाज में फूट डालने के लिए मुस्लिम देशों और इस्लामिक कट्टरपंथी संगठनों से पैसा आया।

सीएए हिंसा में शामिल उपद्रवियों और राष्ट्रविरोधी तत्वों ने योगी से बदला लेने के लिए बनाई दंगे की वेबसाइट। वेबसाइट में बताई गई चेहरे पर मास्क लगाकर पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों को विरोध प्रदर्शन की आड़ में निशाना बनाने की रणनीति।

  • बहुसंख्यकों में फूट डालने और प्रदेश में नफरत का बीज बोने के लिए बताई गई तरह तरह की तरकीबें, वेबसाइट पर मिले बेहद आपत्तिजनक कंटेंट
  • हाथरस की घटना को तूल देकर देशभर में आपसी नफरत पैदा करने की हुई कोशिश
  • हाथरस की घटना को बनाया गया केस स्टडी, जमकर बोए गए नफरत के बीज
  • दंगे की इस बेवसाइट ने वालंटियरों की मदद से तैयार की हेट स्पीच और भड़काऊ सियासत की भी स्क्रिप्ट
  • मीडिया और सोशल मीडिया के जरिए फेक न्यूज, फोटो शाप्ड तस्वीरों, अफवाहों, एडिटेड विजुल्स का किया गया दंगे भड़काने के लिए इस्तेमाल

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button