Reliance: कर्ज घटाने की वजह से ब्याज खर्च में 50 फीसदी की गिरावट, पेट्रोकेमिकल व जियो से मिली मजबूती

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने वित्त वर्ष 2021-22 की 30 जून को खत्म हुई पहली तिमाही के वित्तीय नतीजे शुक्रवार को घोषित कर दिए हैं।

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने वित्त वर्ष 2021-22 की 30 जून को खत्म हुई पहली तिमाही के वित्तीय नतीजे शुक्रवार को घोषित कर दिए हैं। सालाना आधार पर कंपनी के कंसोलिडेटड आय में 58।6 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिली है। कंपनी द्वारा कर्ज घटाने की वजह से ब्याज खर्च में 50 फीसदी की गिरावट आई है।

शेयर बाजारों को भेजी सूचना के मुताबिक पिछले साल की पहली तिमाही में कंपनी का कंसोलिडेटड आय 88253 करोड़ रुपए रहा था। मार्केट कैप के लिहाज से देश की सबसे बड़ी कंपनी का तिमाही आधार पर कंसोलिडेटड मुनाफा 7।2 फीसदी घटकर 12273 करोड़ रुपए पर रहा है। वहीं वित्त वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही में कंपनी का कंसोलिडेटड मुनाफा 13223 करोड़ रुपए रहा था। जबकि बीते वित्त वर्ष की आखिरी तिमाही में कंपनी का कंसोलिडेटड मुनाफा 13227 करोड़ रुपए पर रहा था। रिलायंस इंडस्ट्रीज के नतीजों पर बोलते हुए कंपनी के चैयरमेन मुकेश अंबानी ने कहा कि गंभीर चुनौतियों के बावजूद पहली तिमाही में कंपनी का प्रदर्शन मजबूत रहा है। पहली तिमाही के नतीजों में कंपनी के डायवर्सिफाइड पोर्टफोलियों की मजबूती दिखी है। लॉकडाउन की वजह से कंपनी के रिटेल बिजनेस पर प्रतिकूल प्रभाव दिखा है। फिर भी, कंपनी ने छोटे कारोबारियों और उपभोक्ताओं के साथ अपनी भागीदारी के प्रयासों में तेजी लाई है। आगे कंपनी के रिटेल कारोबार में जोरदार ग्रोथ देखने को मिलेगी।

रिटेल कारोबार की आय सालाना आधार पर 21।9 फीसदी की बढ़त
जून तिमाही में कंपनी के रिटेल कारोबार की आय सालाना आधार पर 21।9 फीसदी बढ़कर 38,563 करोड रुपए पर रही। यह बीते वर्ष की समान तिमाही में 31,633 करोड़ रुपए रही थी। कंपनी के पहली तिमाही में कंपनी के रिटेल कारोबार की EBITDA पिछले साल के पहली तिमाही के 1,088 करोड़ रुपए से बढ़कर 1,953 करोड़ रुपए पर आ गई है। वहीं इस सेगमेंट की EBITDA Margin सालाना आधार पर 3।4 फीसदी से बढ़कर 5।1 फीसदी पर आ गई है।
कंसोलिडेटड आय में तिमाही आधार पर 6।4 फीसदी की गिरावट
पहली तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज के कंसोलिडेटड आय तिमाही आधार पर 6।4 फीसदी की गिरावट के साथ 1।40 लाख करोड़ रुपए रही है। यह पिछले तिमाही में 1।49 लाख करोड़ रुपए रही थी। तिमाही दर तिमाही आधार पर कंपनी का कंसोलिडेटड एबिटडा 23351 करोड़ रुपए से बढ़कर 23368 करोड़ रुपए पर आ गया है। वहीं वित्त वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही में कंपनी का कंसोलिडेटड एबिटडा 16875 करोड़ रुपए रहा था। तिमाही आधार पर पहली तिमाही में कंपनी का कंसोलिडेटड एबिटडा मार्जिन 15।6 फीसदी से बढ़कर 16।7 फीसदी पर आ गया है जो कि वित्त वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही में 19।1 फीसदी था।

रिलायंस जियो की आय 17,994 करोड़ रुपए पर पहुंची
पहली तिमाही में जियो का स्टैंडअलोन मुनाफा 3,501 करोड़ रुपए और आय 17,994 करोड़ रुपए रही है। कंपनी का EBITDA Margin 47।89 फीसदी रहा है। पहली तिमाही में रिलायंस जियो को ARPU (प्रति उपभोक्ता औसत कमाई) तिमाही आधार पर 0।1 फीसदी की बढ़त के साथ 138।40 रुपए पर रहा है। रिलायंस जियो के सब्सक्राइबर एडिशन में तिमाही आधार पर 3।4 फीसदी की बढ़त देखने को मिली है।

पेट्रोकेमिकल की आय में 2।1 फीसदी की बढ़ाेतरी
रिलायंस इंडस्ट्रीज के पेट्रोकेमिकल कारोबार की EBIT Margin पिछली तिमाही के 9।1 फीसदी से बढ़कर 10।1 फीसदी पर आ गई है। पेट्रोकेमिकल कारोबार EBIT तिमाही आधार पर 13।3 फीसदी की बढ़त के साथ 10,394 करोड़ रुपए पर रही है। यह पिछली तिमाही में 9,177 करोड़ रुपए रही थी। वहीं, इस सेगमेंट में पहली तिमाही में आय तिमाही आधार पर 2।1 फीसदी बढ़कर 1।03 लाख करोड़ रुपए पर रही है। यह पिछले तिमाही में 1।01 लाख करोड़ रुपए पर रही थी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button