Breaking newsFeaturedMain Slideउत्तरप्रदेश

सिद्धार्थनगर- रक्षा बंधन पर कोरोना का साया…

This News was published on: 4:36 PM

Raksha Bandhan Shadow of Corona Siddharthnagar :- सिद्धार्थनगर. आज प्रशासन ने दुकानें खोलने की दी छूट,

Raksha Bandhan Shadow of Corona Siddharthnagar :-

खरीदारी के लिए घर से अधिक गिनती में निकल सकते हैं लोग लेकिन कोरोना वायरस की चपेट में आ जाने के कारण रक्षा बंधन पर इस बार व्यापार फीका है।

  • आम दिनों में रक्षा बंधन से कुछ दिन पहले ही लोगों की चहल-पहल बाजारों में शुरू हो जाती थी।
  • बाजार भी पूरी तरह सजे होते थे।
  • मिठाई विक्रेता भी तैयारी कर लेते थे।
  • इस बार गत वर्षों के मुकाबले बाजार में रौनक काफी कम है।

जबकि राखी के त्योहार में सिर्फ आज का दिन ही शेष है। प्रशासन ने रविवार को भी दुकानें खोलने की परमिशन दी है।

  • इस दौरान लोग खरीदारी के लिए निकल सकते हैं।
  • दुकानदारों ने बताया कि इस बार राखी का त्योहार कोरोना महामारी की भेंट चढ़ गया।
  • इस बार सामान की बिक्री गत वर्षों के मुकाबले काफी कम है।

राखी विक्रेता विक्रम अग्रहरि ने बताया कि कोरोना महामारी के चलते चाइना की राखी न आने पर इंडियन राखियां बिक रही हैं, जाे पांच रुपए से शुरू होकर 120 रुपए तक की हैं।

जिसमें एडी नग वाली राखी, कुंदन, पर्ल वर्क, मैटेलिक, एनटिक वर्क और बच्चों की टैडी, लाइट वाली राखी ही ज्यादा बिक रही है।

उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष राखी का त्योहार एक महीना पहले शुरू हो गया था,

क्योंकि लोग विदेशों में रहते अपने परिवारों को राखियां भेजते थे, लेकिन इस बार लोगों ने विदेशों में राखियां कम भेजी हैं।

  • विक्रम ने बताया कि इस बार कोरोना के कारण लोग पैसे नही खर्च करना चाहते हैं।
  • चांदी का रेट मंहगा है और लोग चांदी की राखियों की बजाय ब्रैसलेट खरीद रहे हैं,
  • ताकि वह बाद में भी पहना जा सके।
  • उन्होंने कहा कि हमारे पास चांदी की राखी 150 तक की है
  • और कोरोना के चलते कारोबार कम हो रहा है।
 

देश-विदेश की ताजा ख़बरों के लिए बस करें एक क्लिक और रहें अपडेट 

हमारे यू-टयूब चैनल को सब्सक्राइब करें :

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें :

कृपया हमें ट्विटर पर फॉलो करें:

हमें ईमेल करें : [email protected]

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker